Monday, July 22, 2024
HomeMiscellaneousअमेरिका के नए फाइटर मुंबई के हरमीत:कोच बोले- फिक्सिंग में नाम आया...

अमेरिका के नए फाइटर मुंबई के हरमीत:कोच बोले- फिक्सिंग में नाम आया तो सभी ने नजरअंदाज किया, सुपर-8 में 38 रन बनाए, 2 विकेट भी लिए

टी-20 वर्ल्ड कप का पहला सुपर-8 मैच। साउथ अफ्रीका के खिलाफ 195 रन का टारगेट चेज कर रही अमेरिका ने 76 रन पर 5 विकेट गंवा दिए थे। यहां से जीत मुश्किल लग रही थी, ऐसे में एक और मुंबईकर (मुंबई के रहने वाले) ने अपना हुनर दिखाया। 2010 में भारत से अंडर-19 वर्ल्ड कप खेलने वाले हरमीत ने 22 बॉल पर 2 चौके और 3 छक्कों के सहारे 38 रन बनाए। उन्होंने एंड्रियस गॉस के साथ 93 रन की साझेदारी करके अमेरिका को मैच में ला दिया, हालांकि उनकी टीम 18 रन से मैच हार गई, लेकिन हरमीत की बैटिंग ने सबका ध्यान अपनी ओर खींचा। 31 साल के हरमीत स्कूली दिनों में भारतीय कप्तान कप्तान रोहित शर्मा के साथ एक टीम में खेल चुके हैं। हरमीत ने भी रोहित शर्मा के कोच दिनेश लाड से ट्रेनिंग ली है। मैच के बाद कोच दिनेश लाड ने दैनिक भास्कर से हरमीत की स्ट्रगल स्टोरी साझा की। कोच ने बताया- ‘2012 की IPL स्पॉट फिक्सिंग में गलती से नाम आने के बाद उसके प्रति लोगों का नजरिया बदल गया और सभी ने उन्हें नजरअंदाज करना शुरू कर दिया। पर हरमीत ने हार नहीं मानी और त्रिपुरा-जम्मू से खेलने लगे। मौके नहीं मिलने के कारण हरमीत ने अमेरिका का रुख किया और खुद को साबित किया।’ भास्कर के सवालों पर दिनेश लाड के जवाब सवाल- दो दिन पहले हरमीत ने अपनी सफलता का श्रेय आपको दिया था?
जवाब- हरमीत सिंह का यह बड़प्पन है। जब कोई इंटरनेशनल खिलाड़ी इस लेवल पर जाकर अपने कोच के बारे में बताता है, तो अच्छा लगता है। मैं 2002 में स्वामी विवेकानंद स्कूल में कोच था, तब यह स्कूल मुंबई के गोरे गांव में नया-नया खुला था। हरमीत का एडमिशन क्लास 7 में हुआ था। मैं स्कूल की क्रिकेट टीम बना रहा था और प्रतिभावान बच्चों की तालाश कर रहा था। तभी मुझे संजय पाटिल (वर्तमान में मुंबई सीनियर सिलेक्शन कमेटी के चेयरमैन हैं) ने बताया कि एक लड़का देखा है, काफी टैलेंटेड है। आपको इसको एक बार बुला कर देखना चाहिए। मैंने उनसे हरमीत के फादर का नंबर लिया और उन्हें फोन कर हरमीत को ट्रायल देने के लिए बुलाया। जब हरमीत ने पहली गेंद की, तो मैने अपने साथ खड़े एक पैरंट्स से कहा कि यह तो बिशन बेदी है। बाद में कई सीनियर क्रिकेटर ने उन्हें भविष्य का बिशन सिंह बेदी बताया। हमारे सीनियर क्रिकेटर दिलीप सर देसाई ने कहा था कि यह बिशन सिंह बेदी की तरह गेंदबाजी करता है। अंडर-19 वर्ल्ड कप में भी कई पूर्व क्रिकेटर्स ने इसे भविष्य का बिशन सिंह बेदी बताया था। सवाल- हरमीत का परिवार कहां और क्या करता है?
जवाब- हरमीत के पिता मुंबई में रहते हैं। उनका प्रपॉटी डीलिंग का काम है। उनकी मां कोविड में चल बसीं। तब वे USA में थे और नहीं आ सके। इसका उन्हें आज भी अफसोस है। हरमीत के करियर में उनकी मां का बहुत बड़ा योगदान रहा है। उनकी मां हमेशा उनके साथ रहती थीं। हरमीत जब कोचिंग करता था, तब तक वह अकादमी में बैठकर उसका इंतजार करती थीं। उनका घर हमारी अकादमी से 40 मिनट की दूरी पर था, उसकी मां के कहने पर ही हरमीत के पापा ने मलाड से बोरोली में घर शिफ्ट किया। हरमीत अपनी पत्नी के साथ अमेरिका में रहते हैं और मुंबई में उनके पिता और बहन रहती हैं। सवाल- आपने उन्हें प्रवीण आमरे और पद्माकर शिवालकर के पास ट्रेनिंग करने की सलाह क्यों दी?
जवाब- मैंने हरमीत को शिवाजी पार्क स्थित जिमखाना प्रवीण आमरे और पद्दाकर शिवालकर सर के पास भेज दिया, क्योंकि शिवालकर सर काफी अच्छे लेफ्ट आर्म स्पिनर थे। मुझे लगा कि वे ज्यादा अच्छे से इसे गाइड कर सकते हैं। वहां पर उसने काफी सुधार भी किया। सवाल- हरमीत 2012 में अंडर-19 वर्ल्ड कप खेल चुके हैं। वे अमेरिका क्यों शिफ्ट हुए?
जवाब- हरमीत अंडर-19 वर्ल्ड कप में भी खेले हैं। उन्होंने मुंबई के लिए रणजी भी खेला है। रणजी में उन्होंने मुंबई के लिए डेब्यू करते हुए हिमाचल प्रदेश के खिलाफ 7 विकेट भी लिए थे। लेकिन, बदकिस्मती से उनका नाम गलती से राजस्थान रॉयल्स के साथ हुए मैच की फिक्सिंग में आ गया था। जिसके बाद उनके प्रति लोगों का नजरिया बदल गया। उन्हें मुंबई टीम में जगह नहीं मिली। मैंने हरमीत और उनके पापा को सलाह दी थी कि मुंबई नहीं छोड़ना है, लेकिन वे जम्मू से खेलने लगे, फिर त्रिपुरा से भी खेला, लेकिन उन्हें टीम इंडिया में जगह नहीं मिल पा रही थी। उन्हें क्रिकेट ही खेलना था। इसलिए उन्होंने अमेरिका जाने का फैसला किया। उन्हें आर्थिक रूप से भी नुकसान हो रहा था। इसीलिए मैंने भी नहीं रोका। यूएस में उन्होंने अच्छा परफॉर्म किया। माइनर लीग में भी शानदार प्रदर्शन किया। उसके बाद उन्हें यूएस टीम में जगह मिल गई। सवाल- अमेरिका में हरमीत क्या करते हैं?
जवाब- वे क्रिकेट की कोचिंग देते हैं। अमेरिका में क्रिकेट पॉपुलर हो रहा है। ऐसे में वे अकादमी में चलाते हैं और हफ्ते के दो दिन वे क्लब के मैच खेलते हैं। सवाल- आपको अमेरिका की टीम कैसी लगी?
जवाब- मैं वर्ल्ड कप में उनको शुरू से फॉलो कर रहा हूं। उनका प्रदर्शन चौंकाने वाला रहा है। गेंदबाजी से ज्यादा प्रभावित हूं। हरमीत के साथ मुंबई का एक और खिलाड़ी सौरव नेत्रवल्कर भी है। अली खान भी अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं। अमेरिका के बल्लेबाज भी अच्छा कर रहे हैं। जोन्स और गॉफ ने जिस तरह से पहले मैच में बल्लेबाजी की, वह काबिले तारीफ है। अमेरिका कहीं से भी नई टीम नहीं लग रही है। वह प्रोफेशनल टीम लग रही है। सवाल- इस बार IPL का मेगा ऑक्शन होना है, क्या आपको लगता है कि हरमीत को कोई टीम खरीद सकती है?
जवाब- मुझे लग रहा है कि IPL में उनको फिर से मौका मिल सकता है। उन्होंने माइनर लीग में अच्छी गेंदबाजी और बल्लेबाजी की है। वर्ल्ड कप में भी वह बेहतर कर रहे हैं। मुझे उम्मीद है कि उन्हें जरूर कोई टीम खरीदेगी। सवाल- आप हरमीत के प्रदर्शन को वर्ल्ड कप में किस तरह देखते है?
उसका प्रदर्शन बेहतर रहा है। साउथ अफ्रीका के खिलाफ मैच में ही उसने 4 ओवर 24 रन देकर 2 विकेट लिए हैं। आने वाले समय में उनका प्रदर्शन और बेहतर हो सकता है। अभी वह 30 साल का है। स्पिनर 40-45 साल तक क्रिकेट खेल सकता है। मुझे उसका फ्यूचर ब्राइट लग रहा है। सवाल- हरमीत में आप कौन सी एक चीज मजबूत मानते हैं?
जवाब- रोहित की तरह ही हरमीत में सेल्फ कॉन्फिडेंट है। एक बार की बात है। स्कूल का मैच था। हमारी टीम 45 ओवर के मैच में 130 रन पर आउट हो गई थी। मैं बहुत नर्वस था। मैंने टीम के खिलाड़ियों से कहा कि तुम अच्छा नहीं खेले। हरमीत ने आकर कहा, सर आप चिंता मत करो, यह मैच हम लोग जीतेंगे। उन्हें 80-90 में आउट कर देंगे। वास्तव में उन्होंने 92 रन पर टीम को ऑलआउट कर दिया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments