Sunday, July 21, 2024
HomeMiscellaneousअर्शदीप के बचपन के कोच हो गए थे गुस्सा:पहले मैच 2 ओवर...

अर्शदीप के बचपन के कोच हो गए थे गुस्सा:पहले मैच 2 ओवर में दिए थे 29 रन; कोच ने कहा था- कूल रहकर और सटीक लाइन लेंथ में फेंके गेंद, विकेट मिलेगा

अर्शदीप ने नसाउ काउंटी क्रिकेट स्टेडियम में बुधवार को टी-20 वर्ल्ड कप में अमेरिका के खिलाफ खेले गए मैच में 9 रन देकर 4 विकेट लिए। यह भारत की ओर से टी-20 वर्ल्ड कप में किसी भी गेंदबाज की ओर से किया गया बेस्ट प्रदर्शन है। इससे पहले रविचंद्रन अश्विन ने वर्ल्ड कप-2014 में मीरपुर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 11 रन देकर 4 विकेट लिए थे। अर्शदीप टूर्नामेंट के पहले मैच में आयरलैंड के खिलाफ 2 ओवर में 29 रन दिए थे, जिसके बाद उनके कोच जसवंत राय उनसे नाराज हो गए थे। अर्शदीप के कोच ने दैनिक भास्कर को बताया कि पहले मैच के बाद उनके प्रदर्शन पर मैं गुस्सा था। उनसे कहा था कि उन्हें आगे के मैचों में कूल रह कर गेंदबाजी करनी है और इकोनॉमी भी सुधारना है। वह ऐसा ही कर रहे हैं। प्रस्तुत अर्शदीप के कोच से बातचीत के प्रमुख अंश। सवाल-पाकिस्तान के विकेटकीपर कामरान अकमल ने अर्शदीप के बहाने सिक्खों ने टिप्पणी की थी इस पर क्या कहेंगे?
जवाब- अर्शदीप को पहले भी एशिया कप के दौरान ट्रोल किया गया था। अब वह अपने गेम पर फोकस करता है। वह इधर-उधर की बातों पर नहीं जाता है। किसी के बोलने से न अर्शदीप के परफॉरमेंस पर फर्क पड़ा है और न पड़ेगा। आज भी उसने अच्छा परफॉर्म किया है। पाकिस्तान के खिलाफ मैच में उसने अच्छा प्रदर्शन किया था। सवाल- अर्शदीप ने पहले पाकिस्तान के खिलाफ रन डिफेंड करते हुए मैच जिताया था, अब USA के खिलाफ 4 विकेट लिए। उनके प्रदर्शन को किस तरह से देख रहे हैं?
जवाब- अर्शदीप के इस प्रदर्शन से मैं बड़ा खुश हूं। IPL में थोड़ा वह महंगे साबित हुए थे। हमने उनसे कहा था कि अमेरिका में धैर्य बनाए रखना और पिच पर सही जगह बॉलिंग डालना है, आपको विकेट जरूर मिलेगा। विकेट के लिए जाने के बजाय सही जगह पर गेंद डालनी है। वही उसने किया है। इससे उसकी इकोनॉमी भी ठीक रही और विकट भी चार मिले।
वहीं, अर्शदीप को अमेरिका में जाकर खेलने का फायदा मिला है। वह पिछले साल अमेरिका में जाकर खेला था। सवाल- जब अर्शदीप पाकिस्तान के खिलाफ 18 रन डिफेंड कर रहे थे तो, क्या आपको भरोसा था? आपके मन में क्या चल रहा था?
जवाब- भरोसा तो था कि वह डिफेंड कर लेगा, पर मन में यह डर भी था कहीं रन बन गए तो उसको कई तरह की बातें सुननी पड़ेंगी। पाकिस्तान के खिलाफ मैच वैसे भी हाईवोल्टेज का होता है। प्रेशर तो होता ही है। हम लोग भी प्रेशर महसूस करते हैं। अर्शदीप पर प्रेशर होगा ही। आपने देखा की अमेरिका के खिलाफ पाकिस्तान के गेंदबाज आमिर को सुपर ओवर में 19 रन पड़ गए थे। अर्शदीप ने पाकिस्तान के खिलाफ आखिरी ओवर अच्छा डाला। पहली बॉल डॉट निकाली और एक विकेट लिया और उसके बाद दो चौके लगे। वह मैच को बचा ले गया और टीम को जीत मिली। सवाल- अर्शदीप के प्रदर्शन को देखते हुए आपको क्या लगता है कि वह टूर्नामेंट के बेस्ट गेंदबाज साबित हो सकते हैं?
जवाब- अर्शदीप ने पहले मैच में आयरलैंड के खिलाफ 2 ओवर में 29 रन दिए थे। मैच के बाद जब उससे मेरी बात हुई तो मैं उस पर खूब गुस्सा हुआ। मैंने उसे कहा कि क्या कर रहे हो। हमें अपनी इकोनॉमी ठीक रखनी है। जितने वर्ल्ड क्लास बॉलर हैं, उनसे आपको आगे रहना है और यही मौका है आपको अपने को बेहतर साबित करने का। आप में क्षमता है। आप टूर्नामेंट में टॉप गेंदबाज रहे तो खुद को टीम इंडिया में एस्टैब्लिश कर सकेंगे और लंबे समय तक टीम से खेल पाएंगे। अमेरिका के खिलाफ मैच से पहले मैंने उसे मैसेज डाला था कि कूल रहना है और हर बॉल सोच-समझकर करना है। आज मैच में वह कूल रहा और डिसिप्लिंड बॉलिंग की। मैं उसके प्रदर्शन से खुश हूं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments