Sunday, July 21, 2024
HomeMiscellaneousइंडिया चोकर्स नहीं, चैंपियन है:17 साल बाद टी-20 वर्ल्ड कप जीता; अफ्रीका...

इंडिया चोकर्स नहीं, चैंपियन है:17 साल बाद टी-20 वर्ल्ड कप जीता; अफ्रीका जीती हुई ट्रॉफी हार गई, नहीं मिटा चोकर्स का दाग

11 साल से कोई ICC ट्रॉफी नहीं जीती, हर कोई बोल रहा था हम चोकर्स हैं। हम चोकर्स नहीं… चैंपियन हैं। 2011 के बाद इंडिया ने 5 फाइनल खेले, पिछले वनडे वर्ल्ड कप में तो जीतते-जीतते हार गए। इस बार रोहित की टीम ने ऐसा फाइनल जीता, जिस फाइनल में हर कोई सोच रहा था कि इंडिया जीत नहीं सकती। टी-20 में 30 बॉल पर 30 रन होते क्या हैं, लेकिन इंडियन गेंदबाजों ने, इंडियन फील्डर्स ने, रोहित की कप्तानी ने ये साबित कर दिया कि जीत के लिए रन नहीं, जज्बा चाहिए। टीम इंडिया ने अपने चोकर्स का दाग हटाया… 17 साल बाद जीता टी-20 वर्ल्ड कप
भारत ने 2007 में पहला ही टी-20 वर्ल्ड कप अपने नाम किया, टीम ने फाइनल में पाकिस्तान को 5 रन से हराकर ट्रॉफी जीती। इसके बाद टीम ने 7 और टी-20 वर्ल्ड कप खेले। 3 बार टीम नॉकआउट स्टेज यानी सेमीफाइनल और फाइनल तक पहुंची, लेकिन खिताब से चूक गई। 2014 में भारत ने साउथ अफ्रीका को सेमीफाइनल में हराया, लेकिन श्रीलंका से फाइनल गंवाना पड़ा। 2016 में अपने ही घरेलू मैदान पर भारत नॉकआउट में पहुंचा, लेकिन वेस्टइंडीज से सेमीफाइनल हार गई। 2022 में टीम आखिरी बार नॉकआउट में पहुंची, लेकिन इस बार इंग्लैंड ने 10 विकेट से हरा दिया। इस बीच 2009, 2010, 2012 और 2021 में टीम ग्रुप स्टेज भी पार नहीं कर सकी। अब इसी फॉर्मेट के वर्ल्ड कप में भारत ने तीसरा फाइनल खेला और इस बार ट्रॉफी जीतकर अपने ICC खिताब का सूखा भी खत्म कर दिया। अब बात साउथ अफ्रीका की। पहला फाइनल मैच हाथ में ही था। क्लासन 27 बॉल पर 52 रन बना चुके थे, सबसे खतरनाक फिनिशर डेविड मिलर भी क्रीज पर थे। साउथ अफ्रीका ने जीत का जश्न मनाना शुरू कर दिया था, लेकिन बुमराह-अर्शदीप के 2-2 और हार्दिक के 3 ओवर बाकी थे। तीनों ने हार को जीत में बदल दिया। 32 साल बाद उम्मीद थी कि साउथ अफ्रीका माथे से चोकर्स का दाग धुल डालेगी, लेकिन टीम 177 रन का टारगेट चेज नहीं कर पाई। 7 रन से हार गई। उसका इतिहास बदला नहीं, पहले भी चोकर्स थी, आज भी वही साबित हुई। देखिए कब-कब अफ्रीका चोकर्स साबित हुई… वनडे वर्ल्ड कप में 5 सेमीफाइनल गंवाए
साउथ अफ्रीका ने ICC का बैन हटने के बाद 1992 में पहली बार वनडे वर्ल्ड कप खेला। टीम ने शानदार प्रदर्शन किया और सेमीफाइनल में जगह बनाई, लेकिन इंग्लैंड से हार गए। 1996 से 2015 तक टीम 6 में 5 बार नॉकआउट राउंड में पहुंची, लेकिन कभी क्वार्टर फाइनल तो कभी सेमीफाइनल हारकर बाहर हो गई। 2003 और 2019 में टीम नॉकआउट राउंड में नहीं पहुंच सकी। 2023 में साउथ अफ्रीका ने फिर कमबैक किया और सेमीफाइनल खेला, लेकिन ऑस्ट्रेलिया से हार गए। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम ने यह वनडे वर्ल्ड कप तीसरा सेमीफाइनल गंवाया था। इसके अलावा टीम 2 बार न्यूजीलैंड और एक-एक बार वेस्टइंडीज और इंग्लैंड से नॉकआउट हारी है। टीम ने एकमात्र नॉकआउट मैच 2015 में जीता, तब साउथ अफ्रीका ने क्वार्टर फाइनल में श्रीलंका को हराया था। चैंपियंस ट्रॉफी में इकलौती जीत मिली
1998 में ICC ने पहली बार चैंपियंस ट्रॉफी के रूप में अपना दूसरा 50-ओवर टूर्नामेंट शुरू किया। इसका नाम कभी विल्स इंटरनेशनल तो कभी नॉकआउट ट्रॉफी हुआ, लेकिन अब इसे चैंपियंस ट्रॉफी के नाम से पहचाना जाता है। साउथ अफ्रीका ने इसमें शानदार प्रदर्शन किया और लगातार 3 नॉकआउट मैच जीतकर ट्रॉफी भी उठाई। जैक्स कैलिस प्लेयर ऑफ द मैच और प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट बने। यह साउथ अफ्रीका की सीनियर क्रिकेट टीम का पहला और आखिरी ICC खिताब रहा। इसके बाद टीम ने चैंपियंस ट्रॉफी में 7 बार हिस्सा लिया, लेकिन खिताब तो दूर फाइनल में पहुंचना भी नसीब नहीं हुआ। टीम ने 2000 और 2002 में भारत से लगातार 2 सेमीफाइनल गंवाए। 2006 में वेस्टइंडीज और 2013 में इंग्लैंड ने उन्हें सेमीफाइनल हराकर बाहर किया। साउथ अफ्रीका 2004, 2009 और 2017 में तो ग्रुप स्टेज भी पार नहीं कर सकी। पहले खिताब के बाद टीम ने चैंपियंस ट्रॉफी में 5 नॉकआउट मैच खेले, 4 सेमीफाइनल गंवाए। वहीं इंग्लैंड के खिलाफ एकमात्र क्वार्टर फाइनल भी साल 2000 में जीता। यानी टीम वर्ल्ड कप में 32 साल तो वहीं चैंपियंस ट्रॉफी में 26 साल से चोक कर रही है। टी-20 वर्ल्ड कप में पहला फाइनल खेला, लेकिन हार ही नसीब थी
क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट का वर्ल्ड कप जब 2007 में शुरू हुआ तो ICC ने साउथ अफ्रीका को ही इसकी मेजबानी दे दी। टीम ने पहले ही मैच में वेस्टइंडीज को हरा दिया। सुपर-8 में भी टीम ने लगातार 2 मैच जीत लिए, लेकिन आखिरी मैच भारत से हारकर ग्रुप स्टेज से बाहर होना पड़ा। 2009 में साउथ अफ्रीका फिर सेमीफाइनल तक पहुंचा, लेकिन इस बार पाकिस्तान से हार गया। 2010 और 2012 में ग्रुप स्टेज से बाहर हुआ। 2014 में सेमीफाइनल तक पहुंच गया, लेकिन भारत से ही हारकर बाहर होना पड़ा। 2016 से 2022 तक टीम फिर ग्रुप स्टेज से बाहर हुई और अब 2024 में पहली बार फाइनल में जगह बनाई। टीम ने अफगानिस्तान को सेमीफाइनल हराया और पहली बार टी-20 वर्ल्ड कप में कोई नॉकआउट मुकाबला जीता। साउथ अफ्रीका के पास अपना पहला वर्ल्ड कप जीतने का मौका था, लेकिन टीम भारत के खिलाफ 7 रन से हार गई। WTC का एक भी फाइनल नहीं खेला
चैंपियंस ट्रॉफी, वनडे वर्ल्ड कप और टी-20 वर्ल्ड कप के बाद ICC ने टेस्ट फॉर्मेट का टूर्नामेंट भी 2019 में शुरू कर दिया। इसका नाम वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप यानी WTC रखा, इसमें टॉप-9 टीमों के बीच 2 साल तक 6-6 सीरीज खेली जाती हैं। पॉइंट्स टेबल के आखिर में टॉप-2 स्थानों पर रहने वाली टीमों में फाइनल होता है। साउथ अफ्रीका इस टूर्नामेंट के फाइनल में आज तक नहीं पहुंच सका। 26 साल में साउथ अफ्रीका ने 10 सेमीफाइनल गंवाए
1999 से 2024 तक साउथ अफ्रीका ने ICC के 23 टूर्नामेंट खेले। टीम 11 बार ग्रुप स्टेज से बाहर हुई, लेकिन 12 बार नॉकआउट स्टेज तक भी पहुंची। टीम पर चोकर्स का टैग इसीलिए लगा क्योंकि उन्होंने नॉकआउट स्टेज के 15 में से 12 मैच गंवा दिए। इनमें 10 सेमीफाइनल, एक फाइनल और एक क्वार्टर फाइनल शामिल रहा। साउथ अफ्रीका को नॉकआउट स्टेज की 3 में से 2 जीत भी क्वार्टर फाइनल में मिली। वहीं टीम ने 26 साल में अब जाकर किसी ICC टूर्नामेंट का सेमीफाइनल जीता, जब उन्होंने अफगानिस्तान को हराकर फाइनल में एंट्री की। इंडिया 2011 के बाद फाइनल-सेमीफाइनल में पहुंची पर जीती नहीं… इंतजार था…
भारत ने वनडे वर्ल्ड कप का आखिरी खिताब 2011 में जीता। इसके 28 साल पहले 1983 में टीम को इस फॉर्मेट के वर्ल्ड कप में पहली कामयाबी मिली थी। तब टीम ने फाइनल में वेस्टइंडीज और 2011 में श्रीलंका को फाइनल हराकर ट्रॉफी जीती। इसके बाद से भारत 3 और वनडे वर्ल्ड कप खेले, हर बार टीम नॉकआउट स्टेज में पहुंची, लेकिन खिताब एक में भी नहीं मिल सका। 2015 में भारत ने क्वार्टर फाइनल में बांग्लादेश को हराया, लेकिन सेमीफाइनल में होम टीम ऑस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ गया। 2019 में न्यूजीलैंड ने भारत को सेमीफाइनल हरा दिया। 2023 में फिर भारत ने हिसाब बराबर किया और सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड को ही हरा दिया, लेकिन टीम फाइनल में ऑस्ट्रेलिया से जीत नहीं सकी। चैंपियंस ट्रॉफी का आखिरी खिताब 2013 में मिला
चैंपियंस ट्रॉफी में भारत ने पहला खिताब 2002 में जीता, हालांकि तब फाइनल बेनतीजा होने के कारण ट्रॉफी श्रीलंका से शेयर करनी पड़ी। इसके बाद 2013 में टीम ने इंग्लैंड को उसी के होमग्राउंड पर फाइनल हराया और ट्रॉफी पर कब्जा किया। यह भारत की पिछले 11 साल में आखिरी ICC ट्रॉफी रही। 2013 के बाद चैंपियंस ट्रॉफी का टूर्नामेंट एक ही बार 2017 में हुआ। भारत ने सेमीफाइनल में बांग्लादेश को हराया और लगातार दूसरी बार फाइनल में एंट्री की, लेकिन पाकिस्तान के खिलाफ 180 रन की बड़ी हार झेलनी पड़ गई। इसके बाद चैंपियंस ट्रॉफी नहीं हुई, अब 2025 में टूर्नामेंट पाकिस्तान में आयोजित होगा। वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के दोनों फाइनल गंवाए
WTC यानी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल अब तक 2021 और 2023 में 2 ही बार हुआ। भारत ने दोनों बार फाइनल में जगह बनाई, लेकिन दोनों में हार ही मिली। 2021 में न्यूजीलैंड ने 8 विकेट और 2023 में ऑस्ट्रेलिया ने 209 रन से हरा दिया। 10 साल में 5 फाइनल हारा था भारत, अब मिली जीत
टीम इंडिया दशक की सबसे बड़ी चोकर्स जरूर थी, लेकिन भारत के पास साउथ अफ्रीका की तरह सेमीफाइनल में हारने वाली टीम नहीं रही। यह टीम फाइनल में पहुंचकर हारती थी। पिछले 11 साल में टीम इंडिया ने 11 ICC टूर्नामेंट के 5 फाइनल गंवाए थे, इतना ही नहीं भारत 4 सेमीफाइनल भी हारा है। लेकिन इस बार टीम चूकी नहीं और खिताब लेकर घर लौट रही है। 2014 से भारत ने ICC टूर्नामेंट में 15 नॉकआउट मैच खेले। टीम को 6 में जीत और 9 में हार मिली। 6 में से 4 सेमीफाइनल में जीत और एक फाइनल में वर्ल्ड कप की ट्रॉफी मिली। ————- ग्राफिक्स: अंकित पाठक, कुणाल शर्मा फाइनल से जुड़ी अन्य खबरें भी पढ़े… इंडिया-साउथ अफ्रीका की ताकत और चुनौतियां:रोहित चले तो जीत के चांस ज्यादा पर रबाडा से बचना होगा; डी कॉक-मिलर को रोकना जरूरी आज रात 8 बजे इंडिया और साउथ अफ्रीका बारबडोस स्टेडियम में वर्ल्ड कप 2024 का खिताब जीतने उतरेंगीं। इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा शानदार फॉर्म में हैं। साउथ अफ्रीकी डीकॉक का बल्ला चल रहा है। इंडियन फैंस की परेशानी विराट कोहली की फॉर्म है और साउथ अफ्रीका का सबसे बड़ा डर 32 साल से लगा चोकर्स का दाग है। पूरी खबरे पढ़ें… भारत और साउथ अफ्रीका का ट्रैक रिकॉर्ड:वर्ल्ड कप नॉकआउट में इंडिया का सक्सेस रेट 57%, SA 67% हारा; इस टूर्नामेंट में दोनों अजेय भारत और साउथ अफ्रीका के बीच आज रात 8 बजे से टी-20 वर्ल्ड कप का फाइनल होगा। टीम इंडिया को 2007 से इस टूर्नामेंट की ट्रॉफी का इंतजार है, वहीं साउथ अफ्रीका ने आज तक एक भी वर्ल्ड कप नहीं जीता। पूरी खबर पढ़ें…

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments