Monday, July 22, 2024
HomeGovt Jobsकोटा में JEE स्टूडेंट पंखे से लटका मिला:एक दिन पहले चाचा ने...

कोटा में JEE स्टूडेंट पंखे से लटका मिला:एक दिन पहले चाचा ने अकाउंट में डलवाए थे रुपए, कम जाता था कोचिंग

कोटा में एक और स्टूडेंट ने सुसाइड कर लिया। जेईई स्टूडेंट गुरुवार सुबह अपने कमरे में फंदे पर लटका मिला। पीजी में रहने वाले अन्य स्टूडेंट ने खिड़की से लटका देखा था। पीजी संचालक की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और दरवाजा तोड़कर शव को उतारा। स्टूडेंट नालंदा (बिहार) का रहने वाला था। मामला महावीर नगर इलाके का है। महावीर नगर थाने के जांच अधिकारी महावीर कुमार ने बताया- संदीप कुमार (16) पिछले 2 साल से कोटा में रहकर जेईई की तैयारी कर रहा था। महावीर नगर थर्ड, सेक्टर चार में एक पीजी में रहता था। उसने बुधवार देर रात अपने कमरे में पंखे से फंदा लगा लिया। पुलिस को इसकी जानकारी आज सुबह हुई। शव को न्यू मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल की मॉर्च्युरी में रखवाया गया है। कोचिंग जा रहे दूसरे स्टूडेंट ने खिड़की से लटकते देखा
गुरुवार सुबह करीब 7 बजे पीजी में रहने वाले एक स्टूडेंट ने कोचिंग जाते समय संदीप के कमरे में खिड़की से देखा। वह पंखे से फंदे पर लटका मिला। उसने पीजी संचालक महेंद्र को सूचना दी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। रात को पीजी संचालक से की थी बात
पीजी संचालक महेंद्र ने बताया- बुधवार रात करीब 9:30 बजे संदीप मेस से खाना खाकर आया था। उस दौरान उससे बात हुई थी। बातचीत के बाद वह अपने कमरे में चला गया था। सामने आया है कि एक दिन पहले बुधवार को ही उसके चाचा ने उसके खाते में पैसे भी डलवाए थे। संदीप कोचिंग भी कभी-कभी जाता था। वह रेगुलर कोचिंग से अनुपस्थित रह रहा था। भाई भी कोटा में रहता है
संदीप 11वीं कक्षा में कोटा आया था। उसका भाई संजीत भी कोटा में रहकर इंजीनियरिंग की तैयारी करता है। वह दादाबाड़ी इलाके में कमरा किराए पर लेकर रह रहा था। भाई की मौत की सूचना पर वह हॉस्पिटल पहुंचा। संदीप के माता-पिता की चार साल पहले मौत के कारण चाचा पढ़ाई का खर्चा उठा रहे थे। उन्होंने ही उसका कोटा में एडमिशन करवाया था। पीजी में नहीं लगा हुआ था एंटी हैंगिंग डिवाइस
छात्र जिस पीजी में रह रहा था, उसमें एंटी हैंगिंग डिवाइस नहीं लगा हुआ था। एंटी हैंगिंग डिवाइस लगाना प्रशासन ने अनिवार्य कर रखा है। प्रशासन की तरफ से पीजी संचालकों को अभी तक जागरूक करने को लेकर कोई काम नहीं हुए। उधर, पीजी संचालक से इस बारे में पूछा गया तो उसने साफ कहा- हमें इस बारे में किसी तरह की जानकारी नहीं है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments