Wednesday, July 24, 2024
HomeMiscellaneousगौतम गंभीर के सामने 5 बड़े चैलेंज:भारत को फिर ICC ट्रॉफी जितवाना;...

गौतम गंभीर के सामने 5 बड़े चैलेंज:भारत को फिर ICC ट्रॉफी जितवाना; कोहली-रोहित के साथ केमिस्ट्री और नई लीडरशिप तैयार करना

गौतम गंभीर टीम इंडिया के हेड कोच बन गए हैं। मंगलवार को BCCI ने इसकी ऑफिशियल जानकारी दी। गंभीर अब राहुल द्रविड़ की जगह संभालेंगे, जिन्होंने टीम इंडिया के ICC टूर्नामेंट जीतने सूखा का 10 दिन पहले ही खत्म करवाया। उनकी कोचिंग में भारत ने साउथ ने अफ्रीका को फाइनल हराकर टी-20 वर्ल्ड कप जीता। गंभीर 2027 तक भारत के कोच बने रहेंगे। इस दौरान भारत 5 ICC टूर्नामेंट खेलेगा। गंभीर के सामने इनमें टीम को चैंपियन बनाने की चुनौती है। इसके अलावा विराट कोहली और रोहित शर्मा जैसे सीनियर प्लेयर्स के साथ उनकी केमिस्ट्री पर भी नजरें होंगी। आगे जानते हैं कि कोच गंभीर के सामने 5 बड़े चैलेंज कौन से होने वाले हैं… चैलेंज-1: न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज
हेड कोच के रूप में गंभीर का कार्यकाल श्रीलंका दौरे से शुरू होगा। दौरा पर पहला मैच 27 जुलाई को है। श्रीलंका में टीम 3 वनडे और 3 टी-20 खेलेगी। इसी दौरे से गंभीर के कोचिंग करियर की बुनियाद तय होगी। श्रीलंका दौरा 7 अगस्त को खत्म होगा, इसके बाद 19 सितंबर से टीम इंडिया का बिजी शेड्यूल शुरू हो जाएगा। यहीं से गंभीर के असली चैलेंज भी सामने आएंगे। चैलेंज-2: अगले 3 साल में 5 ICC टूर्नामेंट
ICC साल 2025 से 2027 तक 5 टूर्नामेंट कराएगी। 2 WTC फाइनल हटा दें तो लिमिटेड ओवर्स के 3 अहम टूर्नामेंट इनमें शामिल हैं। 2025 में चैंपियंस ट्रॉफी, 2026 में टी-20 वर्ल्ड कप और 2027 में वनडे वर्ल्ड कप होगा। ICC टूर्नामेंट्स के इतर इस दौरान 2 एशिया कप भी होंगे। चैलेंज-3: नई टी-20 टीम तैयार करना
भारत को 2024 का टी-20 वर्ल्ड चैंपियन बनाने के बाद टीम के 3 दिग्गजों कप्तान रोहित शर्मा, बैटर विराट कोहली और ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ने इस फॉर्मेट से संन्यास ले लिया। जिम्बाब्वे दौरे पर युवा टीम इंडिया भेजी गई, ऐसा ही कुछ श्रीलंका दौरे पर भी देखने को मिलेगा। चैलेंज-4: सीनियर प्लेयर्स के साथ केमिस्ट्री
टी-20 फॉर्मेट से तो 3 सीनियर प्लेयर्स ने संन्यास ले लिया, लेकिन ये तीनों खिलाड़ी वनडे और टेस्ट फॉर्मेट में खेलना जारी रखेंगे। रोहित, विराट और जडेजा 2 फॉर्मेट खेल रहे हैं, वहीं रविचंद्रन अश्विन लंबे समय से टेस्ट टीम का हिस्सा है। ऐसे में देखना अहम होगा कि वह इन 4 प्लेयर्स से किस तरह की केमिस्ट्री बैठाते हैं। चैलेंज-5: ऑल फॉर्मेट लीडर तैयार करना
रोहित शर्मा टी-20 फॉर्मेट से संन्यास ले चुके हैं। उनकी जगह हार्दिक पंड्या इस फॉर्मेट में भारत की कमान संभालने के बड़े दावेदार हैं। रोहित का 2025 तक वनडे और टेस्ट में कप्तान रहना तय है। वनडे में तो उनकी जगह 30 साल के पंड्या ही कप्तान बनाए जा सकते हैं, लेकिन हार्दिक टेस्ट नहीं खेलते। ऐसे में रोहित के बाद भारत का टेस्ट कप्तान कौन होगा, यह चुनौती है। राहुल द्रविड़ ढाई साल तक रहे कोच
गंभीर दिग्गज राहुल द्रविड़ का स्थान लेंगे। द्रविड़ नवंबर 2021 में भारत के हेड कोच बने थे। उन्होंने रवि शास्त्री की जगह ली थी, जिनकी कोचिंग में टीम 2021 के टी-20 वर्ल्ड कप में ग्रुप स्टेज से ही बाहर हो गई थी। द्रविड़ ने यहां से टीम को संभाला और ICC खिताब भी दिलवाया। द्रविड़ के कार्यकाल में टीम 2022 के टी-20 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल तक पहुंची। 2023 में फिर WTC और वनडे वर्ल्ड कप में रनर-अप रही। टीम को दोनों बार ऑस्ट्रेलिया से करारी हार मिली, लेकिन द्रविड़ का कार्यकाल बढ़ा दिया गया। द्रविड़ ने फिर 2024 में टीम को टी-20 वर्ल्ड कप का चैंपियन बनाया और भारत के ICC ट्रॉफी का इंतजार खत्म हुआ। टी-20 वर्ल्ड कप के रूप में 2013 के बाद भारत ने पहला ही ICC टूर्नामेंट जीता। द्रविड़ की कोचिंग में भारत ने इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया को घर में टेस्ट सीरीज हराईं। वहीं साउथ अफ्रीका में सीरीज 1-1 से ड्रॉ कराईं। इतना ही नहीं, टीम इंडिया इस दौरान तीनों फॉर्मेट की ICC रैंकिंग में नंबर-1 टीम भी बनी। यानी गंभीर के सामने 5 बड़े चैलेंज के रूप में द्रविड़ के सफल कैंपेन को आगे ले जाने की पहाड़ जैसी चुनौती है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments