Sunday, July 21, 2024
HomeMiscellaneousपूर्व पाकिस्तानी कप्तान इंजमाम का आरोप-इंडिया ने बॉल टेम्परिंग की:इंजमाम बोले- अर्शदीप...

पूर्व पाकिस्तानी कप्तान इंजमाम का आरोप-इंडिया ने बॉल टेम्परिंग की:इंजमाम बोले- अर्शदीप नई गेंद से रिवर्स स्विंग करा रहे थे, अंपायर्स को आंखें खुली रखनी थीं

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक ने इंडिया पर बॉल टेम्परिंग का आरोप लगाकर नई बहस शुरू कर दी है। पाकिस्तानी न्यूज चैनल पर एक शो के दौरान वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया और इंडिया के मैच पर चर्चा चल रही थी। इस शो में इंजमाम ने कहा कि टीम इंडिया ने गेंद पर कुछ खास मेहनत की थी, जिसके चलते अर्शदीप नई गेंद से रिवर्स स्विंग कराने लगे। इंजमाम के आरोप के बारे में और ज्यादा जानने से पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अर्शदीप का परफॉर्मेंस जान लीजिए। सुपर-8 में अपने आखिरी मैच में इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अर्शदीप सिंह ने 3 विकेट लिए थे। उन्होंने डेविड वॉर्नर, टिम डेविड और मैथ्यू वेड को पवेलियन भेजा। सुपर-8: अर्शदीप vs ऑस्ट्रेलिया रिवर्स स्विंग के लिए गेंद काफी नई थी- इंजमाम
इंजमाम ने कहा- अर्शदीप जब 15 ओवर के बाद बॉलिंग के लिए आए तो रिवर्स स्विंग होने लगी थी। इसका मतलब ये है कि 12वें और 13वें ओवर तक बॉल रिवर्स स्विंग लायक बन गया था। लेकिन ये रिवर्स स्विंग के काफी जल्दी था, अंपायर्स को आंखें खुली रखनी चाहिए थीं। 15वें ओवर में अगर अर्शदीप रिवर्स स्विंग करा रहे हैं तो इसका मतलब यह है कि गेंद पर बहुत सीरियस काम हुआ है। अगर ये पाकिस्तानी गेंदबाजों के साथ होता तो शोर मच सकता था। इंजमाम का इशारा बॉल टेंपरिंग की ओर था। इंजमाम के आरोप पर साथी एक्सपर्ट ने कहा कि कुछ टीमों के साथ अंपायर्स की आंखें बंद हो जाती हैं। अगर हमारी टीम रिवर्स स्विंग करा रही होती तो बॉल चेक हो जाती। पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर बासित बोले- यह केवल शक
इंजमाम के आरोप पर पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेट बासित अली ने कहा कि यह केवल इंजमाम का शक है। उन्होंने कहा, “लोग अर्शदीप की बॉलिंग के बारे में बातचीत कर रहे हैं, लेकिन क्या उन्होंने वेस्टइंडीज के ग्राउंड पर ध्यान दिया? गेंद हवा के साथ स्विंग कर रही थी, लेकिन हवा के खिलाफ नहीं। हवा के साथ गेंद तेजी से आ रही थी और उसके खिलाफ धीमी। यहां पर बॉलर वेरिएशन कर रहा था। बॉलर को रफ्तार की और रिवर्स स्विंग की आर्ट की जरूरत होती है। ऐसे में बॉल टेम्परिंग और रिवर्स स्विंग पर जो बातें हो रही हैं, उनका कोई मतलब नहीं है।” बॉल टेम्परिंग से जुड़े अहम केस 1. पहली बार भारत ने लगाया था बॉल टेम्परिंग का आरोप
1977 में इंग्लैंड की टीम भारत दौरे पर आई थी। तब टीम इंडिया की कप्तानी बिशन सिंह बेदी कर रहे थे। तब बेदी ने इंग्लैंड के पेसर जॉन लेवर पर बॉल टेम्परिंग का आरोप लगाया था। बेदी ने कहा था कि लेवर गेंद चमकाने के लिए वैसलीन का इस्तेमाल कर रहे हैं। बेदी के आरोपों का कोई सबूत ICC को नहीं मिला था। 2. पाकिस्तान पर 5 बार, भारत पर 2 बार लगा बॉल टेम्परिंग का आरोप, तेंदुलकर का नाम भी आया
क्रिकेट इतिहास में पाकिस्तान पर साल 1992, 2000, 2002 में 2 बार, 2006 और 2010 में बॉल टेम्परिंग का आरोप लगा। 1992 में वकार यूनुस और वसीम अकरम पर कोल्डड्रिंक के ढक्कन से बॉल को खुरदने का आरोप लगा था। आरोप साबित नहीं हुआ। 2000 में अजहर महमूद और मोईन खान की मैच फीस काटी गई थी। 2010 में अफरीदी पर 2 टी-20 मैचों का बैन लगाया गया था। टीम इंडिया पर 2001 में बॉल टेम्परिंग का आरोप लगा। साउथ अफ्रीका की टीम पोर्ट एलिजाबेथ में इंडिया से खेल रही थी। इस दौरान सचिन पर बॉल टेम्परिंग का आरोप लगा और साथ ही एक मैच का बैन भी। लेकिन आरोप साबित नहीं हुआ और बैन हटा लिया गया। इसके बाद 2004 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में राहुल द्रविड़ पर गेंद पर जेली लगाने का आरोप लगाया गया और उन पर जुर्माना भी लगाया गया। 3. ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ ने छोड़ी थी कप्तानी
2018 में ऑस्ट्रेलिया की टीम साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैच खेल रही थी। ऑस्ट्रेलिया मेहमान टीम थी। इस दौरान कंगारू बल्लेबाज जेम्स कैमरून बेनक्राफ्ट पर बॉल टेम्परिंग का आरोप लगाया गया था। आरोप था कि बेनक्राफ्ट गेंद को टेप से रगड़ रहे हैं। इसके बाद स्टीव स्मिथ ने कप्तानी छोड़ दी थी। इस केस में अभी ICC का फैसला नहीं आया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments