Sunday, July 14, 2024
HomeMiscellaneousभारत को वर्ल्ड चैंपियन बनाने वाले कैच:​​​​​​​सूर्यकुमार ने 2024, श्रीसंत ने 2007...

भारत को वर्ल्ड चैंपियन बनाने वाले कैच:​​​​​​​सूर्यकुमार ने 2024, श्रीसंत ने 2007 और कपिल देव ने 1983 में कैच से जिताया मैच; देखें VIDEOS

एक आखिरी मौका…हार्दिक पंड्या…लॉन्ग ऑफ…लॉन्ग ऑफ…लॉन्ग ऑफ…सूर्यकुमार यादव ने पकड़ा अपने करियर का सबसे इम्पॉर्टेंट कैच। ये शब्द थे कमेंटेटर जतिन सप्रू पठान के। जब सूर्यकुमार यादव ने भारत-साउथ अफ्रीका वर्ल्ड कप फाइनल के आखिरी ओवर की पहली बॉल पर डेविड मिलर का कैच पकड़ा। सूर्या ने लॉन्ग ऑफ पर कैच पकड़ा और बॉल हवा में उछाली और खुद बाउंड्री लाइन से बाहर चले गए और फिर लौटकर कैच फिनिश किया। सूर्या के इस कैच ने भारत को 17 साल बाद टी-20 वर्ल्ड चैंपियन बना दिया। आगे कुछ ऐसे ही कैच पर बात करेंगे, जिन्होंने टीम इंडिया को वर्ल्ड कप जिता दिया… 1. सूर्यकुमार के जगलिंग कैच पर मिलर आउट, भारत जीता टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल मुकाबले में साउथ अफ्रीका को आखिरी 6 बॉल पर 16 रन बनाने थे और इस फॉर्मेट के सबसे खतरनाक बल्लेबाज डेविड मिलर क्रीज पर थे। ऐसे में दोनों टीमों के पास जीत के बराबर मौके थे। हार्दिक पंड्या ने पहली बॉल पर लो फुल टॉस डाली और मिलर ने लॉन्ग ऑफ पर शॉर्ट खेला। पहले तो लगा कि बॉल बाउंड्री लाइन के बाहर चली जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और सूर्यकुमार ने दौड़ते हुए जगलिंग कैच पकड़ा। वे बॉल को हवा में उछालकर बाउंड्री के बाहर गए और लौटकर कैच कम्प्लीट किया। यहां भारतीय टीम की जीत लगभग पक्की हो गई थी। 2. जोगिंदर की बॉल पर श्रीसंत का कमाल कैच
भारत ने पहला टी-20 वर्ल्ड कप 2007 में जीता था। टीम इंडिया ने पाकिस्तान को 5 रन से हराया। जोहान्सबर्ग में पाकिस्तान को आखिरी ओवर में 13 रन की जरूरत थी और पहली 2 बॉल पर 7 रन बन चुके थे। अब 4 गेंद पर पाकिस्तान को 6 रन बनाने थे। जोगिंदर ने ऑफ स्टंप के बाहर गुडलेंथ बॉल डाली और मिस्बाह उल हक ने स्कूप शॉट खेला। बॉल हवा में गई और थर्ड मैन पर खड़े श्रीसंत ने उन्हें कैच किया। श्रीसंत के इस कैच ने भारत को पहला टी-20 वर्ल्ड कप जिता दिया। 3. कपिल देव के कैच से भारत ने पहला वर्ल्ड कप जीता, चैंपियन वेस्टइंडीज को हराया
भारत ने 1983 में पहला वर्ल्ड कप जीता था, वो भी लगातार दो बार की चैंपियन वेस्टइंडीज को हराकर। उस जीत में कपिल देव के कैच का अहम योगदान रहा। कपिल ने दिग्गज बल्लेबाज विवियन रिचर्ड्स को पवेलियन भेजा। विवि के आउट होने से पहले लग रहा था कि वेस्टइंडीज इस मुकाबले को आसानी से जीत लेगा। लॉर्ड्स में 184 रन का टारगेट चेज कर रही कैरेबियाई टीम ने दो विकेट पर 57 रन बना लिए थे और विव रिचर्ड्स भारतीय गेंदबाजों की पिटाई कर रहे थे। वे 28 बॉल पर 33 रन बना चुके थे। रिचर्ड्स ने मदन लाल की बॉल पर लेग साइड में बड़ा शॉट खेलना चाहा, लेकिन बॉल स्क्वेयर लेग पर बाउंड्री पर चली गई। यहां कपिल देव ने पीछे की ओर भगते हुए उस कैच को पकड़ा। यही मैच का टर्निंग पॉइंट साबित हुआ।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments