Wednesday, July 24, 2024
HomeMiscellaneousसुपर-8 का पहला मैच-370 रन बने, 43 बाउंड्री लगीं:साउथ अफ्रीका ने 195...

सुपर-8 का पहला मैच-370 रन बने, 43 बाउंड्री लगीं:साउथ अफ्रीका ने 195 बनाए, अमेरिका को 176 पर रोका; डी कॉक-रबाडा हीरो, गौस-हरमीत जमकर लड़े

लो-स्कोरिंग मुकाबलों के चलते सवालों में घिरे टी-20 वर्ल्ड कप के लिए सुपर-8 राउंड अच्छी खबर लेकर आया है। सुपर-8 का पहला मैच साउथ अफ्रीका और अमेरिका के बीच वेस्टइंडीज के एंटीगुआ में खेला गया। इस मैच में 370 रन बने, 43 बाउंड्रीज लगीं। क्रिकेट फैंस को ताबड़तोड़ बल्लेबाजी और मैच को मोड़ देने वाली गेंदबाजी देखने को मिली। सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में खेला गया ये मैच साउथ अफ्रीका ने जीता। साउथ अफ्रीका ने बल्लेबाजी और गेंदबाजी में पावरप्ले दिखाया। क्विंटन डी कॉक ने 185 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए और कगिसो रबाडा ने एक ओवर से जीत तय कर दी। पहली बार वर्ल्डकप और सुपर-8 राउंड खेल रही अमेरिका ने भी बराबरी से लड़ाई की। एंड्रियस गौस और हरमीत सिंह ने 91 रन की पार्टनरशिप कर जीत की उम्मीद जगा दी थी, लेकिन आखिरी 2 ओवरों में खेल बिगड़ गया। अमेरिका ने टॉस जीतकर गेंदबाजी चुनी और साउथ अफ्रीका ने 195 रन का टारगेट दिया। USA के बल्लेबाजों ने 176 रन बनाए और टीम 18 रन से हार गई। आखिरी ओवर तक इंट्रेस्टिंग मैच का एनालिसिस… 1. मैच विनर… साउथ अफ्रीका बल्लेबाजी के लिए आई तो अमेरिका के गेंदबाजों ने कसी हुई गेंदबाजी की। पावरप्ले में रीजा हेंड्रिक्स तब आउट हुए जब टीम का स्कोर सिर्फ 16 रन था। ये तीसरा ओवर था, लेकिन हेंड्रिक्स के जाने के बाद क्विंटन डी कॉक ने तेज बल्लेबाजी की। उन्होंने पावरप्ले के बचे हुए 3 ओवर्स में 48 रन बना दिए। डी कॉक ने 74 रन की पारी खेली। इस पारी की बदौलत आने वाले बैटर्स खुलकर खेले। डी कॉक मैन ऑफ द मैच बने। 2. जीत के हीरो एडन मार्करम: जब डी कॉक तेजी से बल्लेबाजी कर रहे थे तो दूसरी ओर से विकेट गिरने नहीं दिए। डी कॉक और एडन मार्करम के बीच 60 गेंदों पर 110 रनों की साझेदारी बनी। मार्करम ने गेंदें मिस नहीं कीं, 25 गेंदों पर 36 रन की पारी खेलकर मिडल ओवर में टीम को मजबूती दी। हेनरिक क्लासन: क्लासन जब क्रीज पर आए तब साउथ अफ्रीका की टीम एक ओवर में मार्करम और डेविड मिलर के विकेट खो चुकी थी। जिम्मेदारी टीम को बड़े स्कोर तक पहुंचाने की थी और रनरेट भी बरकरार रखना था। क्लासन ने 22 गेंदों पर 36 रन बनाए। इसमें से 31 रन सिर्फ 14 गेंदों पर बना डाले। ट्रिस्टन स्टब्स के साथ 30 गेंदों पर 53 रन की पार्टनरशिप कर स्कोर 194 तक पहुंचा दिया। कगिसो रबाडा: साउथ अफ्रीकी पेसर ने अहम मौकों पर अमेरिकी बल्लेबाजों का विकेट लेकर उन्हें रन चेज से रोक दिया। रबाडा ने 4 ओवर में महज 18 रन दिए। उनकी इकोनॉमी 4.50 रही। उन्होंने क्रीज पर जम चुके स्टीवन टेलर (24) को आउट किया। टॉप ऑर्डर नीतीश कुमार को पवेलियन भेजा। 19वें ओवर में उन्होंने हरमीत सिंह का विकेट लिया, जो 172 के स्ट्राइक रेट से 22 गेंदों पर 38 रन बना चुके थे। साउथ अफ्रीका की जीत की वजह अमेरिका की हार के कारण टर्निंग पॉइंट मैच का टर्निंग पॉइंट कगीसो रबाडा का आखिरी ओवर रहा। रबाडा अपना टीम के लिए 19वां ओवर फेंकने आए। तब अमेरिका को 12 गेंदों पर 22 रन चाहिए थे। एंड्रियस गौस-मनप्रीत जम चुके थे और अच्छी बल्ललेबाजी कर रहे थे। यहां पर 12 गेंदों में 22 रन का स्कोर अमेरिका को आसान लग रहा था। लेकिन रबाडा ने पहली ही गेंद पर हरमीत का विकेट लिया। इसके बाद 5 गेंदों पर सिर्फ 2 रन खर्च किए। इस परफॉर्मेंस के चलते अमेरिका के लिए टारगेट 6 गेंदों पर 26 रन का हो गया। जिसे टीम हासिल नहीं कर सकी। फाइटर ऑफ द मैच- एंड्रियस गॉस
एंड्रियस गॉस ने 80 रन की पारी खेली। एक ओर से विकेट गिरने नहीं दिए। टॉप मिडिल ऑर्डर फेल होने के बावजूद उन्होंने लड़ाई जारी रखी। इसके बाद 7वें नंबर पर हरमीत क्रीज पर उतरे। उन्होंने गॉस का साथ दिया। 22 गेंदों पर 38 रन की पारी खेली। दोनों ने 43 गेंदों पर 91 रन की साझेदारी कर जीत की उम्मीद जगा दी थी, लेकिन हरमीत के आउट होने के बाद खेल के समीकरण बदल गए थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments