Sunday, July 14, 2024
HomeMiscellaneousसुपर-8 के 12 मैच 4 स्टेडियम में:भारत 3 अलग मैदानों पर खेलेगा,...

सुपर-8 के 12 मैच 4 स्टेडियम में:भारत 3 अलग मैदानों पर खेलेगा, 2 पर बैटिंग, एक में बॉलिंग हावी; वेन्यू रिपोर्ट

टी-20 वर्ल्ड कप में रविवार को ग्रुप-ए और ग्रुप-बी के सभी मैच खत्म हो गए। इससे सुपर-8 की 7 टीमें तय हो गईं, आज ग्रुप-डी के 2 मैचों से आखिरी टीम भी तय हो जाएगी। जिसके लिए बांग्लादेश और नीदरलैंड दावेदार हैं। सेकेंड राउंड के सभी 12 मैच वेस्टइंडीज के 4 स्टेडियम में होंगे। टीम इंडिया अपने तीनों मैच 3 अलग-अलग मैदानों पर खेलेगी। जहां 2 पर बैटिंग और एक में गेंदबाजी हावी रही है। जानते हैं वर्ल्ड कप का समीकरण और सुपर-8 के चारों वेन्यू की रिपोर्ट… ग्रुप-डी से निकलेगी सुपर-8 की आखिरी टीम
टूर्नामेंट में सुबह 5 बजे से बांग्लादेश और नेपाल के बीच मैच खेला जा रहा है। बांग्लादेश अगर यहां जीत गया तो टीम सुपर-8 में पहुंच जाएगी। वहीं नेपाल जीत गया तो नीदरलैंड के पास मौका रहेगा। नीदरलैंड का मैच सुबह 6 बजे से श्रीलंका से हो रहा है। यहां अगर नीदरलैंड जीता और उनका रन रेट बांग्लादेश से बेहतर रहा तो टीम सुपर-8 में जगह बना लेगी। ग्रुप-डी से साउथ अफ्रीका ने सुपर-8 में पहले ही क्वालिफाई कर लिया। नेपाल और श्रीलंका रेस से बाहर हैं। वहीं अब आखिरी स्थान के लिए बांग्लादेश और नीदरलैंड ही बाकी हैं। जो भी टीम सुपर-8 में जगह बनाएगी, वह भारत के साथ ग्रुप-1 में रहेगी। ग्रुप-सी के 2 मैच बाकी
आज ग्रुप-सी का भी एक मैच खेला जाएगा, रात 8 बजे से न्यूजीलैंड की टीम पापुआ न्यू गिनी से भिड़ेगी। इस मैच के नतीजे से सुपर-8 की टीमों पर कोई असर नहीं पड़ेगा, क्योंकि दोनों ही टीमें रेस से बाहर हो चुकी हैं। ग्रुप-सी का आखिरी मैच वेस्टइंडीज और अफगानिस्तान के बीच 18 जून को सुबह 6 बजे से शुरू होगा। यह ग्रुप स्टेज का भी आखिरी मैच रहेगा। इस मैच के नतीजे से भी सुपर-8 की टीमों पर कोई असर नहीं होगा, क्योंकि दोनों ही टीमों ने अगले राउंड में जगह बना ली है। ग्रुप-बी से ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड ने किया क्वालिफाई
ग्रुप-बी के भी सभी मैच खत्म हो गए। ऑस्ट्रेलिया ने 8 और इंग्लैंड ने 5 पॉइंट्स के साथ सुपर-8 राउंड में जगह बनाई। स्कॉटलैंड के भी 5 ही पॉइंट्स थे, लेकिन इंग्लैंड से खराब रन रेट के कारण टीम तीसरे नंबर पर रही और अगले राउंड में नहीं पहुंच सकी। इस ग्रुप से नामीबिया और ओमान भी ग्रुप स्टेज पार नहीं कर सके। ग्रुप-ए से भारत-अमेरिका सुपर-8 में
ग्रुप-ए के सभी मैच खत्म हो गए। टीम इंडिया ने 7 पॉइंट्स के साथ पहला और अमेरिका ने 5 पॉइंट्स के साथ दूसरा स्थान हासिल किया। वहीं, पाकिस्तान, कनाडा और आयरलैंड अगले राउंड में जगह नहीं बना सके। भारत सुपर-8 के ग्रुप-1 और अमेरिका ग्रुप-2 में है। सुपर-8 के मैच कहां होंगे?
सुपर-8 स्टेज 19 जून से शुरू होगा, यहां 4-4 टीमों को 2 ग्रुप में बांटा गया। भारत, ऑस्ट्रेलिया और अफगानिस्तान ग्रुप-1 में हैं, इनके साथ बांग्लादेश या नीदरलैंड रहेगा। ग्रुप-2 में इंग्लैंड, वेस्टइंडीज, साउथ अफ्रीका और अमेरिका हैं। सेकेंड राउंड से सभी मैच वेस्टइंडीज में ही होंगे। सुपर-8 के लिए 4 वेन्यू तय किए गए, जिनमें एंटीगुआ में 4 और सेंट विंसेंट में 2 मैच होंगे। वहीं सेंट लूसिया और बारबाडोस में 3-3 मैच खेले जाएंगे। 19 जून को अमेरिका और साउथ अफ्रीका के बीच पहला मैच होगा। भारत 20 जून को अफगानिस्तान के खिलाफ अपना पहला मैच खेलेगा। सुपर-8 स्टेज का आखिरी मैच 25 जून को अफगानिस्तान और बांग्लादेश के बीच होगा। बांग्लादेश के क्वालिफिकेशन चांस ज्यादा हैं, इसलिए शेड्यूल को आसानी से समझने के लिए हम अभी के लिए उन्हें सुपर-8 की आखिरी टीम मानकर चल रहे हैं। भारत अपने तीनों मैच अलग-अलग वेन्यू पर खेलेगा
सुपर-8 की सभी टीमों की पोजिशन ICC ने टूर्नामेंट शुरू होने से पहले ही तय कर दी थी, ताकि फैंस को अपनी फेवरेट टीम को सपोर्ट करने के लिए स्टेडियम का टिकट बुक करने में परेशानी न हो। इसी कारण भारत के सुपर-8 में क्वालिफाई करते ही तय हो गया कि टीम के 3 मैच कहां और कब होंगे। सुपर-8 के 4 वेन्यू की रिपोर्ट… 1. एंटीगुआ में दोनों ग्रुप के 2-2 मैच
एंटीगुआ के विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में सुपर-8 स्टेज के 4 मैच होंगे। यहां ग्रुप स्टेज के भी 4 मैच खेले गए, 1 में पहले बैटिंग और 3 में चेज करने वाली टीमों को जीत मिली। पहले बैटिंग करने वाली 2 टीमें 80 से कम के स्कोर पर ही ऑलआउट हो गई। वहीं एक मैच में बारिश के कारण ओवर कम करने पड़े। यहां का हाईएस्ट स्कोर 153 और ओसत स्कोर महज 91 रन है, लेकिन सुपर-8 में मजबूत टीमों के कारण हाई स्कोरिंग मुकाबले हो सकते हैं। एंटीगुआ में हमेशा से पेसर्स ही हावी रहे, जिन्होंने 17 मैचों में करीब 62% विकेट लिए। हालांकि, इस बार गेंदबाजों ने 8.45 की इकोनॉमी रेट से रन भी खर्च किए। मैदान पर टूर्नामेंट से पहले स्कोर डिफेंड करना फायदेमंद रहा, लेकिन टूर्नामेंट में चेज करने वाली टीमों को 75% सफलता मिली। ऐसे में टीमें यहां टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करना पसंद करेंगी। 2. सेंट लूसिया में ग्रुप-2 के 2 मैच
सेंट लूसिया में सुपर-8 स्टेज के 3 मैच होंगे, ग्रुप-2 के दो और ग्रुप-1 का एक। यहां स्कॉटलैंड-ऑस्ट्रेलिया के बीच ग्रुप स्टेज का एक ही मैच खेला गया। नीदरलैंड-श्रीलंका मैच भी यहीं हो रहा है, साथ ही 18 जून को वेस्टइंडीज-अफगानिस्तान मैच भी यहां खेला जाएगा। पहले मैच के आधार पर कहें तो वेन्यू हाई स्कोरिंग है, लेकिन तेज गेंदबाजों को भी मदद मिली है। यहां ओवरऑल 19 टी-20 इंटरनेशनल खेले गए, 9 में पहले बैटिंग और 10 में पहले बॉलिंग करने वाली टीमों को जीत मिली। यहां अब तक 200 का स्कोर पार नहीं हुआ, गेंदबाज महज 8.00 की इकोनॉमी से रन खर्च करते हैं। पेस के साथ स्पिन गेंदबाजों को भी खूब विकेट मिलते हैं। 3. बारबाडोस में भी ग्रुप-2 के 2 मैच
बारबाडोस में टूर्नामेंट का फाइनल खेला जाएगा, यहां सुपर-8 के भी 3 मैच होंगे, दो ग्रुप-2 के और एक ग्रुप-1 का। यहां ग्रुप स्टेज के भी 5 मैच खेले गए, 2 में पहले बैटिंग और एक में पहले बॉलिंग करने वाली टीम को जीत मिली। एक मैच टाई और एक बेनतीजा भी रहा। 201 रन हाईएस्ट स्कोर रहा, लेकिन औसत स्कोर 148 ही है। साथ ही गेंदबाजों ने महज 6.90 की इकोनॉमी से रन खर्च किए, यानी यहां लो-स्कोरिंग मुकाबले देखने को मिल सकते हैं। ओवरऑल बारबाडोस में 29 मैच खेले गए, 18 में पहले बैटिंग और महज 8 में पहले बॉलिंग करने वाली टीमें जीतीं। एक मैच टाई और 2 बेनतीजा रहे। 224 रन हाईएस्ट स्कोर है, जो वेस्टइंडीज ने इंग्लैंड के खिलाफ बनाया था। पेस और स्पिन दोनों गेंदबाजों को विकेट मिलते हैं। दिन के मैचों में पहले बैटिंग और रात के मैचों में पहले बॉलिंग फायदेमंद हो सकती है। 4. सेंट विंसेंट में ग्रुप-1 के 2 मैच
सेंट विंसेंट स्टेडियम में सुपर-8 के 2 ही मैच होंगे, दोनों में ग्रुप-1 की टीम अफगानिस्तान शामिल रहेगी। यहां नेपाल-बांग्लादेश मैच खेला जा रहा है, यहां ग्रुप स्टेज के 2 और मैच भी खेले जा चुके हैं। दोनों ही बार पहले बैटिंग करने वाली टीमों को सफलता मिली। साउथ अफ्रीका ने तो नेपाल के खिलाफ महज 115 रन का स्कोर डिफेंड किया था। पेस के मुकाबले स्पिनर्स को यहां ज्यादा विकेट मिलते हैं। औसत स्कोर भी महज 131 रन रहा। ओवरऑल यहां 4 ही टी-20 इंटरनेशनल खेले गए। स्पिनर्स को 35 और पेसर्स को महज 15 विकेट मिले, यानी अफगानिस्तान अपने स्पिनर्स के साथ यहां मजबूत टीम साबित हो सकती है। यहां का रन रेट भी महज 6.6 ही है। अफगानिस्तान के सामने इस स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया और बांग्लादेश की चुनौती होगी। जबकि टीम भारत से बारबाडोस में भिड़ेगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments