Wednesday, July 24, 2024
HomeMiscellaneousसुपर-8 में भारत के ग्रुप में आ सकता है बांग्लादेश:श्रीलंका रेस से...

सुपर-8 में भारत के ग्रुप में आ सकता है बांग्लादेश:श्रीलंका रेस से बाहर, आज अमेरिका जीता तो पाकिस्तान OUT

टी-20 वर्ल्ड कप में गुरुवार को ग्रुप डी के मुकाबले में बांग्लादेश ने नीदरलैंड को हरा दिया। बांग्लादेश की जीत के साथ ही 2014 की चैंपियन श्रीलंका की टीम सुपर-8 की रेस से बाहर हो गई है। साउथ अफ्रीका इस ग्रुप से पहले ही क्वालिफाई कर चुका है। अब बांग्लादेश या नीदरलैंड में से कोई एक टीम सुपर-8 में पहुंचेगी। इनमें से जो भी टीम आगे बढ़ती है वह अगले राउंड में उसी ग्रुप में पहुंचेगी जिसमें टीम इंडिया होगी। ऐसा क्यों होगा आगे समझते हैं। उससे पहले देख लेते हैं पॉइंट्स टेबल में सभी टीमों की मौजूदा स्थिति क्या है। ग्रुप-ए में किस टीम को क्या करना होगा भारत का रास्ता पहले से साफः भारतीय टीम नंबर-1 पर है। टीम पहले ही सुपर-8 के लिए क्वालिफाई कर चुकी है। कनाडा के खिलाफ मैच के नतीजे का भारत की संभावनाओं पर कोई असर नहीं होगा।
अमेरिका को चाहिए 1 पॉइंटः अगर अमेरिका की टीम आज आयरलैंड से जीतती है तो वह 6 पॉइंट्स के साथ आगे बढ़ जाएगी और पाकिस्तान का पत्ता साफ हो जाएगा। इस मैच में बारिश की 60% संभावना है। अगर मुकाबला रद्द होता है तो भी अमेरिका की टीम 5 पॉइंट्स के साथ सुपर-8 में पहुंच जाएगी।
पाकिस्तान के लिए दो शर्तेंः पाकिस्तान को आयरलैंड के खिलाफ हर हाल में जीत चाहिए। इसके अलावा उसे यह भी दुआ करनी होगी कि अमेरिका की टीम आयरलैंड के खिलाफ हार जाए।
कनाडा के रास्ते लगभग बंदः कनाडा के पास गणित के लिहाज से चांस है लेकिन प्रैक्टिकली उसके रास्ते लगभग बंद हो चुके हैं। कनाडा को अपनी संभावनाओं को जिंदा रखने के लिए भारत के खिलाफ बड़ी जीत हासिल करनी पड़ेगी।
आयरलैंड को दो बड़ी जीत की दरकारः आयरलैंड को सुपर-8 में पहुंचने के लिए अपने आखिरी दोनों मैच बड़े अंतर से जीतने होंगे। इस स्थिति में आयरलैंड और अमेरिका के एक समान 4-4 पॉइंट्स होंगे और बेहतर नेट रन रेट वाली टीम आगे बढ़ेगी। ग्रुप-बी में किस टीम को क्या करना होगा ऑस्ट्रेलियाः सुपर-8 के लिए क्वालिफाई कर चुकी है।
स्कॉटलैंडः अगर ऑस्ट्रेलिया से आखिरी मैच जीत लेती है तो सुपर-8 में पहुंच जाएगी। हार की स्थिति में भी टीम आगे बढ़ सकती है लेकिन तब नेट रन रेट अहम होगा।
नामीबियाः सुपर-8 की रेस से बाहर हो चुकी है।
इंग्लैंडः ओमान पर बड़ी जीत हासिल कर अपना नेट रन रेट स्कॉटलैंड से बेहतर कर लिया है। हालांकि, अब भी अगर स्कॉटलैंड की टीम ऑस्ट्रेलिया को हरा देती है तो इंग्लैंड को बाहर का रास्ता देखना होगा। इंग्लैंड को सुपर-8 में जाने के लिए अपना आखिरी मैच जीतना होगा और साथ ही स्कॉटलैंड के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया की जीत की दुआ करनी होगी।
ओमानः सुपर-8 की रेस से बाहर हो चुकी है। ग्रुप-सी में किसे क्या करना होगा वेस्टइंडीजः सुपर-8 के लिए क्वालिफाई कर चुकी है।
अफगानिस्तानः आखिरी दो में से एक भी मैच जीतने पर क्वालिफाई कर जाएगी।
यूगांडाः रेस से बाहर हो चुकी है।
पीएनजीः आखिरी दोनों मैच बड़े अंतर से जीतने होंगे। फिर भी दूसरी टीमों पर निर्भर रहना होगा।
न्यूजीलैंडः अपने आखिरी दोनों मैच जीते और अफगानिस्तान अपने आखिरी दोनों मुकाबले हारे। ग्रुप-डी में किसे क्या करना होगा
साउथ अफ्रीका: सुपर-8 के लिए क्वालिफाई कर चुकी है।
बांग्लादेश: आखिरी मैच जीतने पर सुपर-8 में पहुंच जाएगी। आखिरी मैच हारने पर भी आगे बढ़ सकती है लेकिन इसके लिए नीदरलैंड को भी आखिरी मैच हारना होगा।
नीदरलैंडः अपना आखिरी मैच बड़े अंतर से जीते और बांग्लादेश अपना आखिरी मैच हार जाए तो नीदरलैंड की टीम सुपर-8 में जा सकती है।
नेपालः रेस से बाहर हो चुकी है।
श्रीलंका: रेस से बाहर हो चुकी है। सुपर-8 में भारत के साथ क्यों आ सकता है बांग्लादेश
ICC ने वर्ल्ड कप से पहले ही हर ग्रुप से दो-दो टीमों की सीडिंग तय कर दी थी। यानी ये टीमें अगर सुपर-8 में पहुंचती हैं तो वे अपनी सीडिंग के साथ जाएंगी। ऐसा इसलिए किया गया ताकि सुपर-8 का शेड्यूल तय के लिए ग्रुप मैच खत्म होने का इंतजार न करना पड़े। उदाहरण के लिए ग्रुप ए में मौजूद भारत की सीडिंग ए1 है। भारतीय सुपर-8 में ए1 ही कहलाएगी। इसके आधार पर यह पहले से तय हो गया कि अगर भारतीय टीम आगे बढ़ती है तो उसके मैच कब और कहां होंगे। पहले से सीडिंग हासिल कर चुकी टीम अगर सुपर-8 में नहीं जाती है तो फिर जो टीम उसे रिप्लेस करेगी उसको सीडिंग मिल जाएगी। उदाहरण के लिए ग्रुप डी में साउथ अफ्रीका को डी1 और श्रीलंका को डी2 सीडिंग मिली थी। अगर श्रीलंका को रिप्लेस कर बांग्लादेश सुपर-8 में आ जाता है तो उसे डी2 सीडिंग मिल जाएगी। वर्ल्ड कप के शेड्यूल के मुताबिक सुपर-8 राउंड में ग्रुप ए की ए1 टीम और ग्रुप डी की डी2 टीम को एक साथ आना है। भारत के ही ग्रुप में होगा ऑस्ट्रेलिया
नाम से जाहिर है कि सुपर-8 में 8 टीमें होंगी। ग्रुप स्टेज से हर ग्रुप की टॉप-2 टीमें इसमें जाएंगी। इन 8 टीमों को 4-4 के दो ग्रुप में बांटा गया है।
ग्रुप-1 में ए1, बी2, सी1 और डी2 टीमें होंगी। वहीं ग्रुप-2 में ए2, बी1, सी2 और डी1 टीमें होंगी।
इस तरह सुपर-8 के ग्रुप-1 में भारत (ए1) और ऑस्ट्रेलिया (बी2) का आना तय हो चुका है। बांग्लादेश या नीदरलैंड में से कोई एक टीम (डी2 के तौर पे) और अफगानिस्तान या न्यूजीलैंड में से कोई एक टीम (सी1 के तौर पर) इस ग्रुप में और जुड़ेगी। सुपर-8 के ग्रुप-2 में साउथ अफ्रीका का आना तय हो चुका है। बाकी टीमों के नाम तय होने अभी बाकी हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments