Monday, July 22, 2024
HomeMiscellaneous7 महीने में लूजर से चैंपियन बना भारत:कप्तान-कोच को एक्सटेंशन, IPL को...

7 महीने में लूजर से चैंपियन बना भारत:कप्तान-कोच को एक्सटेंशन, IPL को तवज्जो नहीं; रिंकू बाहर, 4 स्पिनर्स पर खेला दांव

19 नंवबर, 2023। अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को वनडे वर्ल्ड कप का फाइनल हरा दिया। 10 लगातार जीत के बाद फाइनल में मिली दर्दनाक हार को कप्तान रोहित शर्मा सहन नहीं कर सके। वह मैच खत्म होते ही ड्रेसिंग रूम गए और फूट-फूट कर रोने लगे। रोहित ही नहीं, बाकी खिलाड़ी और भारतीय फैन्स भी इस सदमे को झेल नहीं सके और गहरे दुख में डूब गए। दर्दनाक हार के 222 दिन बाद भारत एक और वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंचा। इस बार टी-20 फॉर्मेट के वर्ल्ड कप में भारत का सामना साउथ अफ्रीका ने किया। 29 जून, 2024 को हुए रोमांचक फाइनल में भारत ने दूसरी पारी के 16वें ओवर से जो कमबैक किया, वह इतिहास बन गया। साउथ अफ्रीका को 30 बॉल पर 30 रन चाहिए थे, उनके 6 विकेट बाकी थे। टीम इंडिया ने यहां से कमबैक कर 7 रन से फाइनल जीता और 7 महीने पहले ऑस्ट्रेलिया से मिली हार के जख्म पर ICC ट्रॉफी का सुखद मरहम लगा दिया। देश 29 जून की रात जश्न में डूब गया, इंडियन प्लेयर खुश, सपोर्ट स्टाफ खुश, हर भारतीय खुश, देश में दिवाली जैसा माहौल छा गया। लेकिन ये हुआ कैसे, ऑस्ट्रेलिया से हारने के बाद भारत ने इतना बड़ा कमबैक किया कैसे? 7 मैच में फ्लॉप रहे कोहली प्लेयर ऑफ द फाइनल कैसे बने? आउट ऑफ फॉर्म हार्दिक इतने अहम खिलाड़ी कैसे हो गए? पूरी टाइमलाइन जानेंगे स्टोरी में… 19 नवंबर 2023: ऑस्ट्रेलिया ने फाइनल हराया
ग्रुप स्टेज में 9 मैच जीतकर भारत ने वनडे वर्ल्ड कप के नॉकआउट राउंड में जगह बनाई। सेमीफाइनल में टीम न्यूजीलैंड पर भी भारी पड़ी और 70 रन से मैच जीता। भारत ने 5 मैच पहले बैटिंग और 5 पहले बॉलिंग करते हुए जीते, यानी दोनों ही डिपार्टमेंट में बराबरी की परफॉर्मेंस। फिर 19 नवंबर को मिल गई ऑस्ट्रेलिया… कंगारू कप्तान पैट कमिंस ने मैच से पहले कहा कि 110 करोड़ भारतीय फैन्स को चुप कराने से अच्छा कुछ भी नहीं हो सकता। भारत पहले बैटिंग करते हुए 240 रन ही बना सका और ऑस्ट्रेलिया ने 6 विकेट से मैच जीत लिया। लगातार 10 जीत के बाद मिली हार से टीम का हर खिलाड़ी, हर फैन निराश हो गया। निराशा लाजमी भी थी, भारत ने 10 साल में 5वां ICC फाइनल जो गंवाया था। इस हार ने फैन्स को इतना निराश किया कि टूर्नामेंट के बाद ठीक बाद ऑस्ट्रेलिया से हुई 5 मैचों की टी-20 सीरीज किसी को याद ही नहीं। भारत इसमें 4-1 से जीता, लेकिन किसी को नतीजे से फर्क नहीं पड़ा। फाइनल हारने का दुख इतना गहरा जो था। 29 नवंबर 2023: राहुल द्रविड़ कोच रहेंगे या नहीं?
वनडे वर्ल्ड कप के साथ राहुल द्रविड़ का टीम इंडिया के साथ कोचिंग पीरियड भी खत्म हो गया। फाइनल हार के बाद BCCI ने चीफ सिलेक्टर अजित अगरकर और सीनियर प्लेयर्स के साथ मीटिंग की। इस मीटिंग में 2 मुद्दे रखे गए, पहला द्रविड़ कोच रहेंगे या नहीं, दूसरा टी-20 वर्ल्ड कप में रोहित कप्तानी करेंगे या कोई और। 29 नवंबर को BCCI ने फैसला लिया और राहुल द्रविड़ का कोचिंग पीरियड टी-20 वर्ल्ड कप तक बढ़ा दिया। रोहित कप्तान होंगे या नहीं, इस पर BCCI ने कुछ नहीं कहा। 1 दिसंबर 2023: कोहली को रखना है या नहीं?
साउथ अफ्रीका में तीनों फॉर्मेट की सीरीज के लिए टीम चुनी गई, सूर्यकुमार यादव को टी-20 और केएल राहुल को वनडे टीम का कप्तान बनाया गया। रोहित शर्मा और विराट कोहली दोनों को व्हाइट बॉल से सीरीज आराम मिला और दोनों को टेस्ट टीम में जगह मिली। इस दौरान खबरें चलने लगीं कि कोहली को टी-20 टीम से बाहर किया गया है। वेस्टइंडीज में धीमी पिच मिलेंगी, जहां कोहली को रन बनाने में परेशानी होगी। इस कारण उन्हें टी-20 वर्ल्ड कप में भी जगह नहीं मिलेगी। 10 दिसंबर को साउथ अफ्रीका दौरा शुरू हुआ, कोहली ने 2 टेस्ट में भारत से सबसे ज्यादा 172 रन बनाए और सीरीज 1-1 से ड्रॉ कराने में अहम योगदान दिया। 7 जनवरी, 2024: कोहली तो वर्ल्ड कप खेलेंगे ही
साउथ अफ्रीका दौरा 7 जनवरी 2024 को खत्म हुआ, इसी दिन अफगानिस्तान के खिलाफ 3 टी-20 की सीरीज के लिए टीम इंडिया घोषित हुई। यह वर्ल्ड कप से पहले भारत की आखिरी टी-20 सीरीज थी। रोहित शर्मा कप्तान बनाए गए, कोहली को जगह मिली, वहीं हार्दिक को आराम दिया गया। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार, अफगानिस्तान के खिलाफ टीम सिलेक्शन से ही BCCI कमेटी ने सहमति बनाई कि कोहली वर्ल्ड कप खेलेंगे। बड़े टूर्नामेंट को देखते हुए उनका टीम में रहना बेहद ज्यादा जरूरी है। 14 जनवरी 2024: विराट ने 14 महीने बाद टी-20 खेला
विराट ने अफगानिस्तान के खिलाफ पहला टी-20 नहीं खेला, वह बाकी 2 टी-20 में नंबर-3 पर उतरे। उन्होंने एक मैच में 29 रन बनाए, लेकिन दूसरे में खाता नहीं खोल सके। कोहली पूरे 14 महीने बाद भारत के लिए टी-20 खेलने उतरे थे, इससे पहले उन्होंने 2022 के टी-20 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल के रूप में आखिरी टी-20 खेला था। कोहली सीरीज में नंबर-3 पर उतरे, लेकिन यहीं मैनेजमेंट ने तय कर लिया कि कोहली वर्ल्ड कप में ओपनिंग करेंगे। 14 फरवरी 2024: ‘बारबाडोस में तिरंगा गाड़ेंगे रोहित’
जनवरी में भारत और इंग्लैंड के बीच 5 टेस्ट की सीरीज शुरू हुई। 15 फरवरी को राजकोट में तीसरा टेस्ट खेला जाना था, इससे पहले 14 फरवरी को स्टेडियम का नाम बदलकर निरंजन शाह स्टेडियम किया गया। यहां BCCI सचिव जय शाह ने कन्फर्म किया कि रोहित शर्मा ही टी-20 वर्ल्ड कप में भारत की कप्तानी करेंगे। उन्होंने कहा, ‘हर कोई विश्व कप पर मेरे बयान का इंतजार कर रहा है। 2023 में भारत लगातार 10 मैच जीतकर विश्व कप नहीं जीत सकता, लेकिन हमने दिल जीत लिया। मैं आज यहां आप सब से वादा करता हूं की 29 जून 2024 को रोहित शर्मा की कप्तानी में भारत वर्ल्ड कप जीतेगा और रोहित बारबाडोस में देश का झंडा गाड़ेंगे।’ 15 अप्रैल 2024: हार्दिक पंड्या चाहिए या नहीं?
इंग्लैंड से टेस्ट सीरीज 4-1 से जीतने के बाद 22 मार्च से IPL शुरू हो चुका था। हार्दिक पंड्या की कप्तानी में रोहित मुंबई इंडियंस (MI) के लिए बतौर प्लेयर खेल रहे थे। दोनों ही प्लेयर परफॉर्म नहीं कर पा रहे थे, ऐसे में खबरें चलनी लगीं कि हार्दिक को टीम इंडिया से बाहर किया जा सकता था। रोहित भी आउट ऑफ फॉर्म थे, इस कारण MI लगातार हार रही थी। 28 अप्रैल 2024: टीम सिलेक्शन में 2 दिन बाकी
टी-20 वर्ल्ड कप के लिए टीम भेजने की आखिरी तारीख ICC ने 30 अप्रैल रखी थी। 28 अप्रैल तक ज्यादातर एक्सपर्ट्स ने अपनी टीम बताई। सभी में एक बात कॉमन रही कि रिंकू सिंह को मौका मिलेगा और टीम 3 स्पिनर्स के साथ जाएगी। कुछ ने तो हार्दिक और कोहली को स्क्वॉड से बाहर तक कर दिया था। 30 अप्रैल 2024: सिलेक्ट हुई टीम इंडिया
चीफ सिलेक्टर अजित अगरकर ने कप्तान रोहित शर्मा के साथ वर्ल्ड कप की टीम सिलेक्ट कर ली। इसमें कुछ चौंकाने वाले फैसले लिए गए। 15 मई 2024: टीम सिलेक्शन के बाद फॉर्म गायब
दुबे, चहल, सैमसन, पंत, रोहित और हार्दिक टीम सिलेक्शन के बाद IPL में आउट ऑफ फॉर्म हो गए। तब भी एक्सपर्ट्स कहने लगे कि रिंकू सिंह को स्क्वॉड का हिस्सा बनाया जा सकता है। हालांकि, सिलेक्टर्स ने टीम नहीं बदली। 21 मई 2024: IPL प्लेऑफ में नहीं पहुंचे 10 खिलाड़ी
IPL प्लेऑफ में हैदराबाद, कोलकाता, राजस्थान और बेंगलुरु ने जगह बनाई। इनमें भारतीय स्क्वॉड के 5 ही प्लेयर्स थे, जिनमें RCB से कोहली और सिराज, वहीं RR से सैमसन, यशस्वी और चहल शामिल रहे। बाकी 10 प्लेयर्स की टीमें प्लेऑफ में जगह नहीं बना सकी। 26 मई 2024: IPL फाइनल में नहीं पहुंचा एक भी खिलाड़ी
कोलकाता और हैदराबाद में IPL 2024 का फाइनल हुआ, इनमें तो भारतीय स्क्वॉड का एक भी प्लेयर शामिल नहीं रहा। कोलकाता में रिंकू सिंह थे, लेकिन वह वर्ल्ड कप स्क्वॉड के रिजर्व प्लेयर्स में शामिल थे। 27 मई 2024: अमेरिका पहुंची टीम इंडिया
टीम इंडिया का कोचिंग स्टाफ और खिलाड़ियों का पहला दल अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर पहुंचा। BCCI ने अपने सोशल मीडिया पर टीम की वीडियो शेयर की। कोहली, सिराज समेत प्लेऑफ खेलने वाले 5 प्लेयर न्यूयॉर्क नहीं पहुंचे थे। पांचों 28 मई को अमेरिका पहुंचे। अमेरिका में भारत को ग्रुप स्टेज के 4 मैच खेलने थे। 1 जून 2024: बांग्लादेश से पहला वॉर्म-अप मैच
भारत ने न्यूयॉर्क में ही पहला वॉर्म-अप मैच बांग्लादेश के खिलाफ खेला। कोहली निजी कारणों से इसमें नहीं खेले। पिच को समझते हुए मैनेजमेंट में ग्रुप स्टेज मैचों को लेकर कुछ फैसले लिए। 5 जून 2024: आयरलैंड को 96 पर समेटा
भारत ने पहला वर्ल्ड कप मैच खेला। न्यूयॉर्क की मुश्किल पिच पर टीम ने आयरलैंड को 96 रन पर ऑलआउट कर दिया। हार्दिक को 3, बुमराह और अर्शदीप को 2-2 विकेट मिले। कोहली-रोहित ने ओपनिंग की, रोहित 52 रन बनाकर रिटायर्ड हर्ट हुए। कोहली एक और सूर्यकुमार 2 ही रन बना सके। पंत ने 36 रन बनाकर मैच फिनिश किया। 9 जून 2024: पाकिस्तान से उम्मीद हारने के बाद जीता मैच
न्यूयॉर्क में ही पाकिस्तान के सामने भारत 119 रन पर सिमट गया। कोहली, रोहित दोनों फ्लॉप रहे। यहां पंत और अक्षर ने स्कोर 100 के पार पहुंचाया। पाकिस्तान ने 12 ओवर में 72/2 का स्कोर बना लिया, यहां से बुमराह ने 3 और हार्दिक ने 2 विकेट लेकर भारत की वापसी कराई। टीम इंडिया 6 रन से जीती। 12 जून 2024: अमेरिका के खिलाफ भी रोहित-विराट फेल
अमेरिका को हराकर भारत अगले राउंड में पहुंच सकता था। यहां अर्शदीप ने 4 और बुमराह ने 2 विकेट लेकर अमेरिका को 110 रन ही बना दिए। छोटे टारगेट के बावजूद रोहित और विराट फ्लॉप हो गए। सूर्यकुमार ने फिफ्टी लगाई, उन्होंने दुबे के साथ टीम को 7 विकेट से जीत दिलाई। 15 जून 2024: कनाडा के खिलाफ बारिश जीती
भारत का कनाडा के खिलाफ आखिरी ग्रुप स्टेज मैच बारिश के कारण बेनतीजा रहा। 20 जून 2024: अफगानिस्तान के खिलाफ खेले कुलदीप
बारबाडोस में भारत ने सुपर-8 स्टेज का पहला मैच खेला। अफगानिस्तान के खिलाफ विराट ने 24 रन बनाए, लेकिन राशिद का शिकार हो गए। यहां सूर्या और हार्दिक ने स्कोर 181 तक पहुंचा दिया। कुलदीप को सिराज की जगह मौका मिला, उन्होंने 2 विकेट लिए। मुकाबले में बुमराह और अर्शदीप ने भी 3-3 विकेट लिए और भारत 47 रन से जीत गया। 22 जून 2024: बांग्लादेश के खिलाफ चमके हार्दिक
जिस हार्दिक को स्क्वॉड में रखने पर सवाल उठ रहे थे, उसी हार्दिक ने बांग्लादेश के खिलाफ फिफ्टी लगाई और भारत को 196 तक पहुंचाया। उन्होंने दूसरी पारी में एक विकेट भी लिया, इस कारण वह प्लेयर ऑफ द मैच बने। मैच में रोहित ने 23 और विराट ने 37 रन बनाए। भारत 50 रन से जीता। 24 जून 2024: ऑस्ट्रेलिया को रोहित ने बैकफुट पर धकेला
सुपर-8 में भारत का आखिरी मैच ऑस्ट्रेलिया से हुआ, यहां अगर टीम इंडिया जीतती तो कंगारू टीम बाहर होने की कगार पर पहुंच जाती। कप्तान रोहित ने इसकी जिम्मेदारी उठाई और वनडे फाइनल में मिली हार का बदला लेकर 41 बॉल पर 92 रन बना दिए। उनकी पारी से भारत ने 205 रन बना दिए। गेंदबाजों, खासकर स्पिनर्स ने अपना काम किया और ऑस्ट्रेलिया को 181 रन ही बनाने दिए। 27 जून 2024: बारिश और इंग्लैंड के सामने अक्षर-कुलदीप बने गेमचेंजर
सेमीफाइनल में भारत का सामना इंग्लैंड से हुआ, इस मैच में बारिश ने बहुत बार खलल डाला। भारत ने पहले बैटिंग की, रोहित ने फिफ्टी लगाई, लेकिन खेल 2 बार बारिश के कारण रोकना पड़ा। मुश्किल पिच पर भारत ने किसी तरह 171 रन बना दिए। यहां अक्षर पटेल और कुलदीप यादव ने 3-3 विकेट लिए और भारत 68 रन से जीत गया। यहां साबित हुआ कि रोहित क्यों वेस्टइंडीज में ज्यादा स्पिनर्स लेकर गए। इन्हीं स्पिनर्स को टीम को सेमीफाइनल जिताया और फाइनल में जगह दिलवाई। 29 जून 2024: कोहली ने जिम्मेदारी संभाली, भारत बना वर्ल्ड चैंपियन
भारत 7 महीने में दूसरी बार वर्ल्ड कप फाइनल खेलने उतरा। कप्तान रोहित ने टॉस जीतकर बैटिंग चुनी। लगातार 7 मैच में फिफ्टी नहीं लगा सके कोहली ने पहले ही ओवर में 3 चौके लगा दिए। अगले 3 ओवर में भारत ने 3 विकेट गंवा दिए, स्कोर 34/3 हो गया। यहां विराट ने एक एंड संभाल लिया, उनके सामने अक्षर ने 47 रन बना दिए। विराट ने 17वें ओवर में फिफ्टी लगाई और अगले 2 ओवर में स्कोर 160 के पार पहुंचा दिया। वह अहम फाइनल में 76 रन बनाकर आउट हुए और भारत ने 177 रन का टारगेट दिया। साउथ अफ्रीका ने 15 ओवर में 4 विकेट पर 147 रन बना दिए। 30 बॉल पर 30 ही रन चाहिए, हेनरिक क्लासन और डेविड मिलर टिके हुए। फिर आए बुमराह-हार्दिक और पलट दिया गेम… बुमराह ने 16वें ओवर में 4 रन दिए, हार्दिक ने 17वें ओवर में क्लासन को पवेलियन भेजा और 4 ही रन खर्चे। बुमराह ने 18वें ओवर में यानसन को बोल्ड किया और 2 ही रन दिए। अर्शदीप ने 19वें ओवर में 4 रन दिए और आखिरी ओवर में हार्दिक के पास बचाने के लिए 16 रन मिल गए। उन्होंने मिलर और रबाडा को सूर्या के हाथों कैच किए। ओवर में 8 ही रन बने और भारत 17 साल बाद टी-20 फॉर्मेट का वर्ल्ड चैंपियन बन गया। भारत को वर्ल्ड चैंपियन बनाकर रोहित शर्मा, विराट कोहली और रवींद्र जडेजा ने टी-20 इंटरनेशनल से संन्यास ले लिया। यह राहुल द्रविड़ का भी बतौर भारतीय कोच आखिरी मैच रहा। अब टीम इंडिया टी-20 में नए कोच, नए कप्तान, नए कोहली और नए ऑलराउंडर के साथ 2026 का वर्ल्ड कप खेलेगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments