Wednesday, July 24, 2024
HomeGovt JobsEduCare न्‍यूज:UPSC एस्पिरेंट को देरी से आने के कारण एंट्री नहीं मिली;...

EduCare न्‍यूज:UPSC एस्पिरेंट को देरी से आने के कारण एंट्री नहीं मिली; मां मिन्नतें करती हुए बेहोश हो गई

गुरुग्राम में 16 जून को UPSC एग्जामिनेशन सेंटर पर एक फीमेल कैंडिडेट को देर से आने के कारण एंट्री नहीं मिली। मां रोते-रोते बेहोश हो गई, पिता फूट-फूट कर रोते हुए होकर गुहार लगाते रहे कि मेरी बेटी को एंट्री दे दो, अभी एग्जाम शुरू होने में आधा घंटा है। लेकिन सेंटर के एडमिनिस्ट्रेशन के कानों में जूं तक नहीं रेंगा। आखिरकार उनकी बेटी का एक अटेम्प्ट बर्बाद हो गया। इस घटना का वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो रहा है, जिसमें UPSC एस्पिरेंट के माता-पिता का दर्द साफ दिख रहा है। रविवार, 16 जून को यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन यानी UPSC की सिविल सर्विस प्रीलिम्स परीक्षा आयोजित की गई थी। विभिन्न एग्जामिनेशन सेंटर्स पर लाखों कैंडिडेट्स एग्जाम देने पहुंचे। मॉर्निंग शिफ्ट की परीक्षा सुबह 9.30 पर शुरू होनी थी, जिसका रिपोर्टिंग टाइम 9 बजे के पहले तक था। किसी कारण से एक फीमेल एस्पिरेंट 9 बजे अपने सेंटर एस.डी. आदर्श विद्यालय सेक्टर 47, गुरुग्राम पर पहुंची, तो इस स्कूल के प्रिंसिपल ने उसे अंदर नहीं जाने दिया। वीडियो में लड़की की मां बेहोश नजर आ रही हैं और पिता रो रहे हैं।
लड़की अपने पिता को समझाते हुए कह रही है, ‘पापा! पानी पियो। क्यों ऐसे कर रहे हो? पापा, हम अगली बार दे देंगे। कुछ ऐसी बात नहीं है।’
पिता अपनी बेटी की एक साल की मेहनत बर्बाद होने का दुःख जताते हुए कहते हैं, ‘एक साल गया बाबू हमारा।’
बेटी पिता को समझाते हुए कहती है, कोई बात नहीं! उमर नहीं निकली जा रही ना। गुस्से में पिता स्कूल अधिकारियों को भी कोसते दिख रहे हैं।
मां जाने को तैयार नहीं हैं और कह रही हैं, “नहीं जाऊंगी”। बेटी और पिता उन्हें उठाने की कोशिश कर रहे हैं। एक्सपर्ट्स बोले – पिछले साल की तुलना में आसान था पेपर 1, कट-ऑफ बढ़ सकता है
एक्सपर्ट्स के मुताबिक इस साल GS का पेपर पिछले साल की तुलना में आसान था। ऐसे में हाई कट ऑफ होने की उम्मीद की जा सकती है।
वहीं, एग्जाम के पहली शिफ्ट में शामिल होने वाले कैंडिडेट्स का भी कहना है कि इस बार सिविल सर्विस प्रीलिम्स एग्जाम पेपर 1 पिछले साल की तुलना में आसान था। इस बार पेपर में एनवायर्नमेंट और साइंस एंड टेक्नोलॉजी से जुड़े सवाल ज्यादा देखने को मिले।
एग्जाम में इंटरनेशनल रिलेशंस से अफगानिस्तान, सेंट्रल एशिया, ईस्ट यूरोप और अफ्रीका पर सवाल पूछे गए।
हिस्ट्री में बुद्धिज्म, जैनिज्म, मंदिर, लिटरेचर और टेक्स्ट, मंगोल और ब्रिटिश एंपायर के विस्तार से जुड़े सवाल आए।
GS का पेपर टोटल 200 मार्क्स का होता है और एग्जाम में टोटल 100 सवाल होते हैं। डायनामिक सवालों का रेश्यो ज्यादा
इस साल यूपीएससी प्रीलिम्स परीक्षा में सवालों का पैटर्न पिछले सालों से कुछ अलग था। हर साल की तरह इस साल भी यूपीएससी परीक्षा में स्टैटिक और डायनामिक, दोनों तरह के सवाल पूछे गए थे। लेकिन इस बार डायनामिक सवालों का रेश्यो पहले से ज्यादा था। IAS, IPS और अन्य एलाइड के 1056 पदों पर होनी है भर्ती
इस एग्जाम के जरिए देश के सबसे प्रतिष्ठित ऑफिसर ग्रेड के लिए उम्मीदवारों का चयन होता है। इनमें IAS (इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस), IPS (इंडियन पुलिस सर्विस), IFS (इंडियन फॉरेन सर्विस) जैसे पद शामिल हैं। इस साल UPSC सिविल सर्विसेज एग्जाम के जरिए 1056 पदों पर भर्ती होनी है। UPSC CSE 2024 का एग्जाम 26 मई को होना था, लेकिन लोकसभा चुनाव की वजह से एग्जाम की डेट बढ़ाकर 16 जून कर दी गई थी। पढ़ें पूरी खबर…. इसे भी पढ़ें…
टॉपर्स मंत्रा – UPSC IFoS हर्ष वर्मा के टिप्‍स:4 किताबें पढ़ने के बजाय एक किताब 4 बार पढ़ी; ऑनलाइन दिए मॉक टेस्‍ट

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments