Sunday, July 21, 2024
HomeGovt JobsNSUI के खिलाफ NTA ने दर्ज करवाया केस:NSUI ने NEET रीएग्जाम की...

NSUI के खिलाफ NTA ने दर्ज करवाया केस:NSUI ने NEET रीएग्जाम की मांग को लेकर कल किया था विरोध प्रदर्शन; इस मुद्दे पर राहुल गांधी सुबह 10 बजे करेंगे प्रेस कॉन्फ्रेंस

NUSI के खिलाफ आज NTA ने IPC की धारा 186/352/452/342 के तहत मामला दर्ज करवाया है। दरअसल, NEET पेपर लीक को लेकर कल NUSI ने प्रदर्शन किया और कार्यकर्ता NTA के ऑफिस में घुस गए थे। NUSI का ये प्रदर्शन रीएग्जाम की मांग को लेकर था।
NSUI ने NTA दफ्तर में ताला जड़ा
गुरुवार, 27 जून को NSUI के कार्यकर्ता NTA के दफ्तर पहुंच गए। राष्ट्रीय अध्यक्ष वरुण चौधरी ने दैनिक भास्कर से कहा, ‘हम करीब 200 स्टूडेंट्स NTA के दफ्तर के बाहर प्रदर्शन करने गए थे, हमने ऑफिस में अंदर घुसकर ऑफिस में ताला लगा दिया। जो काम सरकार को करना चाहिए था, वो हमने कर दिया। अब हम देश के अलग-अलग शहरों में यही करेंगे।’ NEET मुद्दे पर विपक्ष नेता राहुल गांधी आज करेंगे प्रेस कॉन्फ्रेंस NEET एग्जाम में गड़बड़ी का मुद्दा आज संसद के दोनों सदनों में उठेगा। I.N.D.I.A. के नेताओं ने स्थगन प्रस्ताव लाने का फैसला किया है। राहुल गांधी सुबह 10 बजे इस मुद्दे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। NEET पेपर लीक केस में CBI की पहली गिरफ्तारी, पटना से मनीष प्रकाश और आशुतोष अरेस्ट
NEET पेपर लीक मामले में CBI ने गुरुवार, 27 जून को मनीष प्रकाश और आशुतोष को पटना से गिरफ्तार किया। दोनों ने ही पटना के प्ले एंड लर्न स्कूल को रात भर के लिए बुक कराया था। इसी स्कूल में 20 से ज्यादा कैंडिडेट्स को इकट्ठा करके आंसर रटवाए गए थे। यहीं जली बुकलेट के टुकड़े भी मिले थे। CBI पिछले दो दिन से 11 लोगों से पूछताछ कर रही है। CBI ने बिहार पुलिस की आर्थिक अपराध इकाई (EOU) से 26 जून को यह केस अपने हाथ में लिया था। अब तक 5 राज्यों में पुलिस ने 27 गिरफ्तारियां की हैं। पूरी खबर पढ़ें गुजरात: CBI ने गोधरा में दर्ज की FIR, पुलिस ने सौंपे 1000 पेज के सबूत
गुजरात के गोधरा में भी NEET पेपर लीक मामले में CBI ने जांच शुरू कर दी है। गुजरात पुलिस ने मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की है। गोधरा पुलिस पेपर लीक और 27 कैंडिडेट्स को एग्जाम में पास करने के लिए लिए 10-10 लाख रुपए लेने के आरोप में 5 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। लोकल पुलिस ने जांच के सबूत CBI को हैंडओवर कर दिए हैं। इसमें 1 हजार पेज के डॉक्यूमेंट्स, मोबाइल फोन, डिजिटल रिकॉर्ड, प्री एग्जाम मीटिंग के सबूत और स्टूडेंट्स के बीच 2.3 करोड़ रुपए के लेनदेन का रिकॉर्ड शामिल है। वहीं, पुलिस ने जय जलराम स्कूल से 7 लाख रुपए कैश भी बरामद किया है। उत्तर प्रदेश: NEET पेपर लीक से जुड़ा विधायक का नाम, 5 पेपर लीक मामलों में संदिग्ध
NEET पेपर लीक मामले में उत्तर प्रदेश से भारतीय समाजवादी पार्टी (BSP) के विधायक बेदिराम सिंह का नाम भी जुड़ गया है। दरअसल, पेपर लीक गैंग के मास्टरमाइंड बिजेंद्र गुप्ता ने एक वीडियो में बेदीराम को अपना गुरु बताया है। उसने दावा किया है कि पेपर लीक के असली मास्टरमाइंड बेदीराम हैं। दरअसल, CPMT पेपर लीक समेत पेपर लीक से जुड़े कई आरोपों में बिजेंद्र गुप्ता का नाम शामिल है। वहीं, विधायक बेदीराम सिंह पर आरोप है कि 2006 में रेलवे ग्रुप डी, 2007 में रेलवे भर्ती, 2009 में UP STF रेलवे भर्ती परीक्षा, 2011 में छत्तीसगढ़ PMT और दिल्ली यूनिवर्सिटी MET के पेपर लीक होने में उनका हाथ है। पश्चिम बंगाल: कोलकाता में मेडिकल सीट के बदले वसूले 12 लाख रुपए
कोलकाता में NEET UG एग्जाम में मेरिट लिस्ट में पैसों के बदले किसी कैंडिडेट का नाम जोड़ने का मामला सामने आया था। आरोपी ने स्टूडेंट के पेरेंट्स से मेरिट लिस्ट में नाम जोड़ने और कॉलेज में मेडिकल सीट देने के लिए 5 से 12 लाख रुपए तक की रकम वसूली है। पश्चिम बंगाल पुलिस ने आरोपी को 25 जून को गिरफ्तार किया था। NEET परीक्षा पर स्‍टूडेंट्स ने कीं 2 बड़ी शिकायतें
अब तक NEET UG एग्जाम में खास तौर पर दो गड़बड़ियों को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिकाएं दायर की गईं। NTA ने रीएग्जाम कराया
एग्जाम में गड़बड़ियों को लेकर देशभर में प्रदर्शन के बाद NTA ने 8 जून को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। NTA ने बताया कि देश के 6 सेंटर्स पर स्टूडेंट्स को एग्जाम हॉल में कम समय मिला था इसलिए कुल 1563 कैंडिडेट्स को ग्रेस मार्क्स दिए गए। हालांकि, NTA ने ये नहीं बताया कि ये मार्क्स किस आधार पर दिए गए। इन स्टूडेंट्स के लिए 23 जून को रीएग्जाम कंडक्ट किया गया। एग्जाम में सिर्फ 813 कैंडिडेट्स शामिल हुए जबकि 750 ने एग्जाम नहीं दिया। दो कैंडिडेट्स ने NEET रीएग्जाम के खिलाफ दायर की याचिका
NEET-UG 2024 एग्जाम देने वाले दो कैंडिडेटस ने 26 जून को रीएग्जाम के विरोध में सुप्रीम कोर्ट में हस्तक्षेप याचिका दायर की है। ये याचिका कृतिका गर्ग और प्रियांजलि गर्ग ने दायर की है। उन्होंने कहा कि उन्होंने अपनी मेहनत से एग्जाम में 705 और 690 नंबर हासिल किए हैं। ऐसे में रीएग्जाम होने से उन सभी स्टूडेंट्स के साथ गलत होगा जो सालों से तैयारी कर रहे हैं। 20 हजार स्‍टूडेंट्स की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में होगा फैसला
देशभर में NEET UG 2024 में गड़बड़ियों को लेकर अलग-अलग राज्यों में लगभग 20 हजार स्टूडेंट्स ने सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट में याचिकाएं दायर की थीं। NTA ने 14 जून को देश के 7 अलग-अलग हाईकोर्ट में लगी याचिकाओं की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में ट्रांसफर किए जाने की मांग की थी। कोर्ट ने 20 जून को राजस्थान, बॉम्बे और कलकत्ता हाईकोर्ट में NEET मामले में लगी याचिकाओं को क्लब कर दिया। अब इन सभी मामलों की सुनवाई 8 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट में होगी। NTA में सुधार के लिए 7 सदस्‍यों की कमेटी कर रही है विचार
कमेटी के चेयरमैन और ISRO के पूर्व चेयरमैन डॉक्टर के राधाकृष्णनन ने 25 जून को कहा कि कमेटी में सुधार के लिए पेरेंट्स और स्टूडेंट्स से भी चर्चा की जाएगी। इसके बाद ही एग्जाम कंडक्ट करने के लिए फूलप्रूफ और ट्रांसपेरेंट सिस्टम बनाया जाएगा। अंडरग्रेजुएट मेडिकल कोर्सेज में दाखिले के लिए होता है NEET एग्‍जाम
NEET UG यानी नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेस टेस्‍ट, अंडरग्रेजुएट राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा है। NEET परीक्षा मेडिकल और डेंटल कोर्सेज में एडमिशन के लिए आयोजित की जाती है। इस साल लगभग 24 लाख स्टूडेंट्स ने ये एग्जाम दिया था। इसके जरिए भारत और रूस, यूक्रेन समेत कुछ अन्‍य देशों में MBBS, BDS और अन्य मेडिकल कोर्सेज में एडमिशन मिलता है। NEET विवाद से जुड़ी ये अहम खबरें भी पढ़ें… NEET में डमी कैंडिडेट बना जोधपुर एम्स का स्टूडेंट:यूपी के डॉक्टर के बेटे की जगह बिहार एग्जाम देने गया था; स्कूल ने माफीनामा लेकर छोड़ा NEET एग्जाम में फर्जी कैंडिडेट बनकर एग्जाम सेंटर पर पहुंचने वाले जोधपुर एम्स के MBBS स्टूडेंट हुक्माराम गोदारा को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। वह प्रयागराज (UP) के एक मशहूर डॉक्टर RK पांडे के बेटे राज पांडे की जगह बिहार के सेंटर पर एग्जाम देने बैठा था। इसके लिए उसे 4 लाख रुपए मिलने थे। सेंटर पर बायोमेट्रिक जांच के दौरान पकड़ा गया था। पूरी खबर पढ़ें NEET में 1563 कैंडिडेट्स को ग्रेस मार्क्‍स क्‍यों:6 सेंटर्स पर बच्‍चे 3 हजार, शिकायतकर्ता 20 हजार; फिर NTA ने कैसे तय किया 1563 का नंबर NTA ने 13 जून को सुप्रीम कोर्ट में कहा था कि रिजल्‍ट में जिन 1563 कैंडिडेट्स को ग्रेस मार्क्‍स दिए गए हैं, उनके मार्क्‍स कैंसिल होंगे और इन्‍हें रीएग्‍जाम का ऑप्‍शन दिया जाएगा। खास बात ये है कि NTA ने कोर्ट को इस बात का कोई सबूत नहीं दिया कि क्यों 1563 कैंडिडेट्स को ही ग्रेस मार्क्‍स दिए गए हैं। ये सवाल अभी भी बरकरार है कि NTA ने ग्रेस मार्क्‍स देने के लिए 1563 कैंडिडेट्स का चुनाव कैसे किया।
पूरी खबर पढ़ें… नई सरकारी नौकरियों के अपडेट्स यहां पढ़ें
आज के दिन का करेंट अफेयर्स यहां पढ़ें
शिक्षा और करियर से जुड़ी और खबरें यहां पढ़ें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments