Wednesday, May 22, 2024
HomeGovt Jobsइम्पैक्ट फीचर:चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के छात्रों को हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के छात्रों के साथ...

इम्पैक्ट फीचर:चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के छात्रों को हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के छात्रों के साथ किया जाएगा ग्रेड, शीर्ष वैश्विक कंपनियों में मिलेगा प्लेसमेंट

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के छात्रों को हार्वर्ड विश्वविद्यालय के छात्रों के समान सीखने का अनुभव प्राप्त होगा।:
क्रिस्टन मेनार्ड, एचबीएस ऑनलाइन के बिजनेस ऑपरेशंस और स्ट्रैटेजिक अलायंसेज के प्रबंध निदेशक
चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी महत्वाकांक्षी व्यावसायिक छात्रों को अंतरराष्ट्रीय अनुभव और परिप्रेक्ष्य प्रदान करने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका में स्थित प्रतिष्ठित हार्वर्ड विश्वविद्यालय के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर करके एक सहयोगी ऑनलाइन मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (एमबीए) कार्यक्रम शुरू करने वाली पहली भारतीय यूनिवर्सिटी बन गई है। चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी ने दोनों शीर्ष विश्वविद्यालयों के बीच शैक्षणिक सहयोग को बढ़ावा देने के लिए 2 मई को हार्वर्ड विश्वविद्यालय में चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के चांसलर, सतनाम सिंह संधू,ने हार्वर्ड विश्वविद्यालय के बिजनेस ऑपरेशंस और स्ट्रैटेजिक एलायंस के प्रबंध निदेशक क्रिस्टन मेनार्ड के साथ चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की प्रो-चांसलर प्रोफेसर हिमानी सूद और अन्य गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इस समझौता ज्ञापन (एमओयू) के तहत, चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के छात्रों को इस एमबीए कार्यक्रम के तहत एक सेमेस्टर के लिए हार्वर्ड विश्वविद्यालय के बिजनेस स्कूल द्वारा पढ़ाया जाएगा। हार्वर्ड विश्वविद्यालय के साथ एमओयू से चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के बिजनेस मैनेजमेंट छात्रों को बेहद फायदा होगा क्योंकि उन्हें हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के छात्रों के साथ ग्रेड किया जाएगा जिसके परिणामस्वरूप उन्हें शीर्ष वैश्विक फर्मों में प्लेसमेंट का लाभ मिलेगा। नई शिक्षा नीति के तहत विदेशी विश्वविद्यालयों के साथ सहयोग के माध्यम से भारत में शिक्षा परिदृश्य को बदलने के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के दृष्टिकोण के अनुरूप चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी ने हार्वर्ड विश्वविद्यालय के साथ इस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इसका उद्देश्य ज्ञान के आदान-प्रदान को सुविधाजनक बनाना, शैक्षणिक नवाचार को बढ़ावा देना और विभिन्न क्षेत्रों में शिक्षा के मानक को ऊपर उठाना है। हार्वर्ड यूनिवर्सिटी और चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के बीच समझौता ज्ञापन (एमओयू ) दोनों संस्थानों को एक साथ उच्च गुणवत्ता वाली व्यावसायिक शिक्षा प्रदान करने का अवसर प्रदान करेगा।: हार्वर्ड बिजनेस स्कूल ऑनलाइन के कार्यकारी निदेशक
हार्वर्ड बिजनेस स्कूल (एचबीएस)ऑनलाइन और कार्यकारी शिक्षा के कार्यकारी निदेशक पैट्रिक मुलेन ने कहा, “हार्वर्ड बिजनेस स्कूल (एचबीएस) ऑनलाइन और चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के बीच समझौता ज्ञापन (एमओयू ) कई कारणों से महत्वपूर्ण है। क्योंकि यह वैश्विक स्तर पर बिजनेस स्कूल सहयोग के हमारे नेटवर्क के विस्तार के लक्ष्य को पूरा करने में सक्षम बनाता है। ऑनलाइन शिक्षा, व्यवसाय प्रबंधन में सर्वोत्तम प्रथाओं के प्रसार को सक्षम बनाती है।
यह दोनों संस्थानों के लिए मिलकर उच्च गुणवत्ता वाली व्यावसायिक शिक्षा प्रदान करने का एक अवसर है, जो दुनिया में ऐसे महान नेताओं को बनाने में मदद करेगा जिनकी दुनिया में कमी है। इस अवसर पर ऑनलाइन बिजनेस स्कूल सामग्री और नियमित विश्वविद्यालयों में दाखिला लेने वाले छात्रों को बधाई देते हुए कहा कि यह लर्निंग जैसे कौशल हासिल करने का बहुमूल्य अवसर है, जो छात्रों को भारत और दुनिया के अन्य हिस्सों में अपने व्यवसायों, संगठनों, मुनाफे और संस्थानों का प्रभावी ढंग से नेतृत्व करने के लिए सशक्त बनाता है।” चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के छात्रों को हार्वर्ड यूनिवर्सिटी कैंपस के छात्रों के समान सीखने का मिलेगा अनुभव :
एचबीएस ऑनलाइन के बिजनेस ऑपरेशंस और स्ट्रैटेजिक अलायंसेज के प्रबंध निदेशक क्रिस्टन मेनार्ड ने एचबीएस ऑनलाइन के बिजनेस ऑपरेशंस और स्ट्रैटेजिक अलायंसेज के प्रबंध निदेशक क्रिस्टन मेनार्ड ने चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के छात्रों के लिए ऑनलाइन एमबीए कार्यक्रम के लाभ पर बोलते हुए कहा, “चंडीगढ़
यूनिवर्सिटी के छात्र भी वही पाठ्यक्रम लेंगे जो हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के छात्र लेते हैं। इससे पहले कि वे (चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के छात्र) यहां अपना अध्ययन पाठ्यक्रम शुरू करें, हम उन्हें व्यवसाय की नींव प्रदान करेंगे,जिससे चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में उनका आगे का अध्ययन आगे बढ़ा सकता है और उनके व्यावसायिक करियर को आगे बढ़ाने में मदद कर सकता है। पाठ्यक्रम में, हम उन विषयों में वैश्विक परिप्रेक्ष्य में लाने का प्रयास करते हैं जिन्हें वे देख रहे हैं। जब वे वित्तीय लेखांकन या व्यवसाय विश्लेषण के बारे में सोच रहे होते हैं, तो वे न केवल अवधारणाओं के बारे में सोच रहे होते हैं बल्कि वे निर्णय लेने वाले वास्तविक अधिकारियों के साथ वास्तविक व्यवसायों में दुनिया भर की स्थितियों पर कैसे लागू होते हैं के बारे में भी सोचते है। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि वैश्विक परिप्रेक्ष्य एक ऐसी चीज है जिसका चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के छात्रों को बहुत आनंद आएगा और वे इससे लाभान्वित होंगे। चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के छात्रों के लिए ऑनलाइन एमबीए कार्यक्रम के लाभ पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के बीच क्रेडिट ट्रांसफर से सीयू
को दुनिया भर में बेहतर प्लेसमेंट में मदद मिलेगी तथा उनकी व्यावसायिक समझ हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले छात्रों के बराबर होगी। मेनार्ड ने कहा, “चंडीगढ़ विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले छात्रों को अध्ययन के इस पाठ्यक्रम से पूरी तरह से लाभ होगा कि वे अपनी नौकरी के अनुप्रयोगों में और व्यवसाय की अपनी समझ और व्यावसायिक अवधारणाओं के अनुप्रयोगों में हार्वर्ड बिजनेस स्कूल से प्राप्त अपनी योग्यताओं के बारे में बात करने में सक्षम होंगे। अमेरिका में हमारे अपने छात्रों को उनके
द्वारा सीखी गई योग्यताओं और कौशलों से लाभ मिलता है। इसलिए आशा करें कि चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के छात्रों को भी यही लाभ होगा।
हार्वर्ड विश्वविद्यालय में सर्वश्रेष्ठ संकाय से अध्ययन करने के लाभ पर मेनार्ड ने कहा कि चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी को वही सीखने का अनुभव प्राप्त होगा जो हार्वर्ड विश्वविद्यालय के छात्रों को मिलता है। उन्होंने कहा कि सहयोगात्मक ऑनलाइन एमबीए प्रोग्राम चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के छात्रों को उनकी व्यावसायिक समझ, नौकरी के आवेदन, भविष्य के अवसरों के मामले में विश्वसनीयता प्रदान करेगा क्योंकि उन्हें हार्वर्ड विश्वविद्यालय के छात्रों के साथ वर्गीकृत किया जाएगा। मेनार्ड ने कहा, “निश्चित रूप से हम अपने उन सभी छात्रों को ग्रेड देते हैं जो दुनिया भर में पाठ्यक्रम लेते हैं। उन्हें दुनिया भर में हार्वर्ड विश्वविद्यालय के छात्रों के समान मानकों पर मदद की जाएगी।”
हार्वर्ड विश्वविद्यालय के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू ) छात्रों को विश्व स्तरीय शैक्षिक अनुभव प्रदान करने के लिए चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। :सतनाम सिंह संधू,चांसलर चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी
एमओयू पर टिप्पणी करते हुए, चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के चांसलर और राज्यसभा सांसद सतनाम सिंह संधू
ने कहा, “अपने प्रतिष्ठित संस्थानों, चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी और हार्वर्ड विश्वविद्यालय के बीच एक अभिनव सहयोग का अनावरण करते हुए हमें खुशी हो रही है, एमओयू का उद्देश्य एमबीए में क्रांति लाना है। नई शिक्षा नीति की एक महत्वपूर्ण विशेषता शिक्षा का अंतर्राष्ट्रीयकरण और भारतीय छात्रों को वैश्विक अनुभव प्रदान करना है। हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के साथ किया जा रहा यह सहयोग उसी दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।”
संधू ने आगे कहा, “चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के बीच यह साझेदारी एक परिवर्तनकारी ऑनलाइन एमबीए कार्यक्रम की पेशकश करने के लिए दो प्रसिद्ध संस्थानों की विशेषज्ञता, संसाधनों और दृष्टिकोण को एक साथ लाएगी। अत्याधुनिक पाठ्यक्रम, प्रसिद्ध एवं अनुभवी संकाय और वैश्विक नेटवर्किंग अवसरों के मिश्रण के माध्यम से, यह सहयोग महत्वाकांक्षी व्यापारिक नेताओं को आज की गतिशील दुनिया में आगे बढ़ने के लिए आवश्यक कौशल और अंतर्दृष्टि के साथ सशक्त बनाएगा। हम साथ मिलकर एक विश्व स्तरीय शैक्षिक अनुभव प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं जो हमारे स्नातकों को लगातार विकसित होने वाले व्यावसायिक परिदृश्य में ईमानदारी, नवाचार और प्रभाव के साथ नेतृत्व
करने के लिए तैयार करता है।
एचबीएस ऑनलाइन शिक्षा विश्व स्तर पर मान्यता प्राप्त है, जिस से छात्र न केवल सफल होंगे बल्कि दूसरों से अलग प्रदर्शित होंगे : मैरी क्लार्क, कंटेंट प्रोडक्शन एचबीएस ऑनलाइन की प्रबंध निदेशक
कंटेंट प्रोडक्शन एचबीएस ऑनलाइन की प्रबंध निदेशक मैरी क्लार्क ने चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के साथ साझेदारी के बारे में उत्साह व्यक्त करते हुए कहा कि, “यह अनूठा सहयोग एचबीएस संकाय द्वारा संचालित विश्व स्तरीय ऑनलाइन पाठ्यक्रमों को पेश करते हुए छात्रों को शीर्ष स्तरीय सीखने शिक्षा के अनुभव प्रदान करेगा, जिससे उनके करियर में तेजी आएगी। पिछले प्रतिभागियों से प्राप्त डाटा से पता चलता है कि जिन छात्रों ने अन्य ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म या संस्थानों से पाठ्यक्रम लिया है उनकी तुलना में पिछले छात्रों ने अपने प्रमोशन और वेतन वृद्धि में तेजी देखी है। छात्र एचबीएस संकाय से पाठ्यक्रम लेंगे और
एचबीएस ऑनलाइन प्रतिभागियों के वैश्विक समुदाय और दुनिया भर में विशेष नेटवर्किंग अवसरों से जुड़ेंगे, जिन तक अन्य प्लेटफार्मों और संस्थानों की पहुंच नहीं है। एचबीएस ऑनलाइन शिक्षा दुनिया भर में मान्यता प्राप्त है, और इन पाठ्यक्रमों को लेने वाले छात्र न केवल अपने करियर में सफल होंगे बल्कि अन्य उम्मीदवारों से अलग भी प्रदर्शित होंगे। उन्होंने आगे कहा, “एचबीएस ऑनलाइन को अपनी अकादमिक उत्कृष्टता के लिए स्टारबक्स, पीडब्ल्यूसी जैसी शीर्ष वैश्विक फर्मों और दुनिया भर में इनोवेटिव स्टार्टअप्स द्वारा मान्यता प्राप्त है तथा गूगल, माइक्रोसॉफ्ट और ऊबर जैसे उद्योग के दिग्गजों के साथ इसके मजबूत संबंध हैं। एचएसबी ऑनलाइन छात्र अपनी शिक्षा और कौशल को तुरंत विभिन्न उद्योगों में लागू कर सकते हैं। इन पाठ्यक्रमों की सबसे अनूठी विशेषता न केवल संकाय के साथ बल्कि दुनिया भर के मामलों में हमारे सहयोग में निहित है, जिसमें भारत के लोगों सहित वास्तविक दुनिया के नायक शामिल हैं, जो अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी और उद्योग नेतृत्व पर प्रकाश डालते हैं, जो आने वाले 10 वर्षों में वैश्विक प्रगति का मार्गदर्शन करते हैं। चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के बीच यह एमओयू अकादमिक जगत में एक महत्वपूर्ण मोड़ है। दोनों विश्वविद्यालय दुनिया के शीर्ष रैंक वाले शैक्षणिक संस्थानों में अग्रणी हैं। जहां हार्वर्ड यूनिवर्सिटी क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2024 में नंबर 4 पर है, वहीं चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी ने क्यूएस एशिया यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2024 में भारत के सभी निजी विश्वविद्यालयों में प्रथम स्थान हासिल किया है। चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी,घड़ूआं ने उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी सब्जेक्ट रैंकिंग-2024 में आठ विषयों में शीर्ष स्थान हासिल कर वैश्विक स्तर पर अपनी सर्वश्रेष्ठता सिद्ध की है। चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी ने निजी विश्वविद्यालयों की श्रेणी में हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट, पेट्रोलियम इंजीनियरिंग, तथा सोशल साइंसेज एंड मैनेजमेंट जैसे तीन विषयों में भारत में शीर्ष स्थान हासिल किया है। जबकि क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी सब्जेक्ट रैंकिंग 2024 में चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट और पेट्रोलियम इंजीनियरिंग – में दुनिया के शीर्ष 100 विश्वविद्यालयों में शामिल हुई है।
क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी सब्जेक्ट रैंकिंग 2024 में चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी ने जिन आठ विषयों में शीर्ष रैंकिंग हासिल की,उनमें बिज़नेस एवं मैनेजमेंट स्टडीज, इंजीनियरिंग एवं टेक्‍नोलॉजी कंप्यूटर साइंस एवं इनफार्मेशन सिस्टम्स, हॉस्पिटैलिटी एवं लेयर मैनेजमेंट, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, सोशल साइंसेज और मैनेजमेंट,पेट्रोलियम इंजीनियरिंग तथा इलेक्ट्रिकल एवं इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग शामिल है। इतना ही नहीं चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी ने हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट में भारत में प्रथम हासिल किया है जबकि भारत में 10वीं कंप्यूटर साइंस एवं इनफार्मेशन सिस्टम्स, इंजीनियरिंग एवं टेक्‍नोलॉजी में 11वां, मैकेनिकल इंजीनियरिंग में 14वां, तथा बिज़नेस एवं मैनेजमेंट स्टडीज में 18वां रैंक अर्जित किया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments