Wednesday, June 19, 2024
HomeMiscellaneousक्या पाकिस्तान वर्ल्ड कप से बाहर हो गया:अमेरिका एक भी मैच जीता...

क्या पाकिस्तान वर्ल्ड कप से बाहर हो गया:अमेरिका एक भी मैच जीता तो PAK का सफर खत्म; भारत-आयरलैंड पर टिकीं उम्मीदें

पाकिस्तान को जिस बात का डर था, वही हुआ। अमेरिका के बाद भारत ने भी उसे ग्रुप स्टेज में हरा दिया। लगातार 2 हार से पाकिस्तान की टी-20 वर्ल्ड कप के अगले राउंड में पहुंचने की उम्मीदें लगभग खत्म हो चुकी हैं। टीम की अब बची-खुची आस आयरलैंड और भारत पर टिक गई हैं। इनमें से कोई भी टीम अमेरिका से हारती है तो बाबर आजम की टीम पहले राउंड से घर वापसी का टिकट हासिल कर लेगी। पाकिस्तान बाहर होता है तो हैरानी क्यों होगी
क्योंकि पाकिस्तान टी-20 वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा 6 बार नॉकआउट राउंड के लिए क्वालिफाई करने वाली टीम है। भारत, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और वेस्टइंडीज से भी ज्यादा। पाकिस्तान ने 2007 से अब तक 3 फाइनल खेले। 2009 में टीम चैंपियन बनी, वहीं 2007 और 2022 में रनर-अप रही। पाकिस्तान ICC के 2 वनडे टूर्नामेंट भी जीत चुका है। भारत से हारकर कैसे बढ़ी पाकिस्तान की मुश्किल
पाकिस्तान को पहले मैच में अमेरिका ने हराया था। अमेरिकी टीम ने मुकाबला सुपर ओवर में जीता था। वहीं, भारत ने न्यूयॉर्क के मैदान पर 119 रन बनाने के बावजूद पाक के ऊपर 6 रन की जीत हासिल कर ली। रविवार के नतीजे से ग्रुप-ए के पॉइंट्स टेबल में भारत पहले और अमेरिका दूसरे नंबर पर पहुंच गया है। दोनों के 4-4 पॉइंट्स हैं। वहीं 2 मैच बाद भी पाकिस्तान का कोई अंक नहीं हुआ, टीम चौथे नंबर पर है। पाकिस्तान अब कनाडा और आयरलैंड से अपने आखिरी 2 ग्रुप मैच खेलेगी। आयरलैंड भी कर सकती है उलटफेर
आयरलैंड पिछले महीने ही पाकिस्तान को 5 विकेट से टी-20 हरा चुकी है। आयरलैंड 2007 के वनडे वर्ल्ड कप में भी पाकिस्तान को हराकर उलटफेर कर चुकी है। टीम ने पिछले टी-20 वर्ल्ड कप में भी चैंपियन इंग्लैंड को ग्रुप स्टेज में हराने का कारनामा किया था। इतना ही नहीं, आयरलैंड का नाम बड़ी टीमों को हराने के साथ ही जोड़ा जाता है। टीम ने टी-20 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के साथ वेस्टइंडीज, बांग्लादेश और जिम्बाब्वे जैसी टॉप टीमों को भी हराया। दूसरी ओर, पाकिस्तान पिछले 2 वर्ल्ड कप में अमेरिका और जिम्बाब्वे जैसी छोटी टीमों से हार चुका है। यानी पाकिस्तान टीम आयरलैंड को भी हल्के में नहीं ले सकती। कनाडा से जीतने पर भी नहीं होगा फायदा
पाकिस्तान का अगला मुकाबला कनाडा से 11 जून को न्यूयॉर्क में होगा। अगर पाकिस्तान की टीम यह मैच जीत भी लेती है तो भी उसे सुपर-8 की उम्मीद जिंदा रखने के लिए आयरलैंड को हराना ही होगी। यह दोनों मैच जीतकर भी पाकिस्तान की टीम बाहर हो सकती है। अगर अमेरिका अपने आखिरी दो मैच हार भी जाता है तो भी उसके पास बेहतर नेट रन रेट के आधार पर पाकिस्तान से आगे रहने का मौका होगा। यानी पाकिस्तान को अपने आखिरी दोनों मुकाबले बड़े अंतर से जीतने होंगे और साथ ही यह भी दुआ करनी होगी कि अमेरिका यहां से और कोई मैच न जीते। पाकिस्तान की सबसे बड़ी मुश्किल बना अमेरिका
ग्रुप-ए से पॉइंट्स टेबल की 2 टॉप टीमें ही अगले राउंड में जाएंगी। भारत ने आयरलैंड और पाकिस्तान को हराकर एक स्थान के लिए अपना दावा मजबूत कर लिया है। टीम के 2 मैच कनाडा और अमेरिका से हैं। भारत के दोनों मैच जीतने के चांस बहुत ज्यादा हैं। दूसरी ओर, अमेरिका के 2 मैच भारत और आयरलैंड से बाकी हैं। इनमें से एक भी मैच अमेरिका ने जीत लिया तो टीम 6 पॉइंट्स हासिल कर पाकिस्तान को रेस से बाहर कर देगी। पाकिस्तान को चाहिए भारत-आयरलैंड का साथ
पाकिस्तान को अगर इस सिचुएशन से भी क्वालिफाई करना है तो उनकी पूरी उम्मीदें अब भारत और आयरलैंड पर टिकी हैं। दोनों ने अगर अमेरिका को हराया तभी टीम 4 पॉइंट्स के साथ क्वालिफाई कर पाएगी। क्योंकि अमेरिका दोनों मैच हारा तो 4 पॉइंट्स पर रुक जाएगा। हालांकि, इसके लिए भी पाकिस्तान को अपना रन रेट अमेरिका से बेहतर रखना होगा। अमेरिका 12 जून को भारत और 14 जून को आयरलैंड से भिड़ेगा। पिछले वर्ल्ड कप से खराब फॉर्म में है पाकिस्तान
पाकिस्तान ने 2022 में टी-20 वर्ल्ड कप फाइनल हारने के बाद अपना फॉर्म गंवा दिया। टीम ने इसके बाद 28 मैच खेले, महज 9 जीते और 17 गंवा दिए। इस दौरान 2 मैच बेनतीजा भी रहे। यानी टीम का जीत परसेंटेज महज 32% रहा। वर्ल्ड कप से ठीक पहले पाकिस्तान को आयरलैंड और इंग्लैंड ने भी 3 टी-20 हरा दिए थे। पाकिस्तान का इतना बुरा हाल हुआ क्यों?
2023 में पाकिस्तान ने 11 टी-20 खेले, महज 4 में जीत मिली। फिर वनडे वर्ल्ड कप में भी टीम ग्रुप स्टेज से बाहर हो गई। इसके बाद टीम के व्हाइट बॉल कप्तान बाबर आजम ने कप्तानी छोड़ दी। शाहीन शाह अफरीदी नए कप्तान बने, यहीं से टीम का बुरा हाल शुरू हो गया। शाहीन की कप्तानी में पाकिस्तान ने न्यूजीलैंड में 5 टी-20 की सीरीज 4-1 से गंवा दी। यहां से शाहीन की आलोचना शुरू हुई, वह पाकिस्तान सुपर लीग में अपनी टीम लाहौर कलंदर को 10 में से एक ही मैच जिता सके। जबकि बाबर आजम की कप्तानी वाली पेशावर जल्मी प्लेऑफ में पहुंच गई। आलोचना और खराब परफॉर्मेंस के बाद शाहीन ने भी पाकिस्तान की कप्तानी छोड़ दी। बाबर को फिर एक बार व्हाइट बॉल टीम का कप्तान बनाया गया। हालांकि, नतीजे नहीं बदले और पाकिस्तान ने अपनी ही घर में न्यूजीलैंड से टी-20 सीरीज गंवा दी। इसी फॉर्म के साथ टीम अब वर्ल्ड कप खेल रही है और टीम ग्रुप स्टेज से ही लगभग बाहर हो चुकी है। ********** ग्राफिक्स: महेश वर्मा

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments