Wednesday, June 19, 2024
HomeMiscellaneousटी-20 वर्ल्ड कप में पहली बार:अमेरिका में टूर्नामेंट, टेम्पररी स्टेडियम में 8...

टी-20 वर्ल्ड कप में पहली बार:अमेरिका में टूर्नामेंट, टेम्पररी स्टेडियम में 8 मैच, टूर्नामेंट से जुड़ीं 6 नई बातें

साल 2023 का वनडे वर्ल्ड कप, चेन्नई में पाकिस्तान और साउथ अफ्रीका के बीच मैच चल रहा था। पाकिस्तान ने पहले बैटिंग करते हुए 270 रन बनाए। साउथ अफ्रीका ने 4 विकेट पर 200 रन बना लिए। तभी पाक कप्तान बाबर आजम ने गेम स्लो कर दिया। बाबर साउथ अफ्रीकी बल्लेबाजों का मोमेंटम तोड़ना चाहते थे। बाबर का ट्रिक काम करने लगा और साउथ अफ्रीका का स्कोर 260/9 हो गया। हालांकि, साउथ अफ्रीका ने किसी तरह मैच जीत लिया। अगर तब टी-20 वर्ल्ड कप का नया नियम ‘स्टॉप क्लॉक ‘ लागू होता तो पाकिस्तान बहुत पहले हार चुका होता। इसके मुताबिक स्लो ओवर पर फील्डिंग टीम को 5 रनों की पेनल्टी लगेगी। 2 जून से अमेरिका और वेस्टइंडीज में टी-20 वर्ल्ड कप का आगाज हो रहा है। जानिए 6 ऐसी खास बातें जो पहली बार देखने को मिलेंगी। 1. दो अलग बोर्ड को मेजबानी
इस वर्ल्ड कप की मेजबानी वेस्टइंडीज और USA क्रिकेट एसोसिएशन को मिली है। पहली बार 2 बोर्ड टी-20 वर्ल्ड कप की मेजबानी करेंगे। इससे पहले 8 बार हुए टूर्नामेंट की मेजबानी किसी एक ही बोर्ड ने ही की थी। 2. अमेरिका को होस्टिंग
अमेरिका को पहली बार किसी भी ICC इवेंट की होस्टिंग मिली है। अमेरिका 2028 में ओलिंपिक भी होस्ट करेगा, जिसमें क्रिकेट को शामिल किया गया है। अमेरिका टी-20 वर्ल्ड कप की होस्टिंग करने वाले दूसरा एसोसिएट मेंबर नेशन बनेगा। एसोसिएट यानी जिन्हें ICC ने टेस्ट क्रिकेट खेलने का दर्जा नहीं दिया है। अमेरिका से पहले 2021 का टी-20 वर्ल्ड कप एसोसिएट देश यूएई में खेला गया। हालांकि इसे भारत ने ऑर्गनाइज कराया था, क्योंकि टूर्नामेंट के होस्टिंग राइट्स BCCI के पास थे। क्या पहली बार ICC टूर्नामेंट को होस्ट करेगा एसोसिएट बोर्ड?
नहीं, इससे पहले चैंपियंस ट्रॉफी और वनडे वर्ल्ड कप की मेजबानी एसोसिएट मेंबर्स कर चुके हैं। 1998 में चैंपियंस ट्रॉफी की मेजबानी एसोसिएट नेशन बांग्लादेश और वनडे वर्ल्ड कप की मेजबानी 1999 में स्कॉटलैंड, आयरलैंड, वेल्स और नीदरलैंड ने इंग्लैंड के साथ की थी। 3. पहली बार 20 टीमें खेलेंगी
टी-20 वर्ल्ड कप में पहली बार 20 टीमें हिस्सा लेंगी। इस बार में 20 टीमों को 5-5 टीमों के 4 अलग ग्रुप में बांटा गया। हर ग्रुप की 2-2 टॉप टीमें सुपर-8 स्टेज के 2 ग्रुप में जाएंगी। यहां दोनों ग्रुप की 2-2 टॉप टीमों के बीच सेमीफाइनल होंगे, जिन्हें जीतने वाली टीमों के बीच 29 जून को बारबाडोस में फाइनल खेला जाएगा। तीन टीमें करेंगी वर्ल्ड कप डेब्यू
20 में से 8 टीमों ने 2022 वर्ल्ड कप के टॉप-8 पोजिशन पर फिनिश कर क्वालिफाई किया है। 2 टीमों ने रैंकिंग के आधार पर जगह बनाई। अमेरिका और वेस्टइंडीज बतौर होस्ट नेशन हिस्सा बने। वहीं बाकी 8 टीमों ने रीजनल क्वालिफायर जीतकर टूर्नामेंट में जगह बनाई। कनाडा और यूगांडा अपना टी-20 वर्ल्ड कप डेब्यू करेंगे। वहीं अमेरिका भी पहली बार ही टी-20 वर्ल्ड कप खेलेगा। 4. पहली बार विदेश में बनाई गई पिचें
न्यूयॉर्क के नसाउ काउंटी स्टेडियम में ड्रॉप-इन पिच का इस्तेमाल किया जा रहा है। ड्रॉप-इन पिच को ग्राउंड से बाहर बनाया जाता है और फिर स्टेडियम में लगाया जाता है। नसाउ स्टेडियम को पिच को ऑस्ट्रेलिया में बनाया गया। इसी साल में जनवरी में 10 पिचों को समुद्र के रास्ते अमेरिका के फ्लोरिडा लाया गया, जहां 5 महीने तक तैयार करने के बाद उसे मई में ही नसाउ स्टेडियम में फिट भी कर दिया गया। 10 में से 6 पिचें प्रैक्टिस के लिए हैं, वहीं 4 पिच पर 8 मैच खेले जाएंगे। पहली बार किसी वर्ल्ड कप में दूसरे देश में बनी पिचों का इस्तेमाल होने जा रहा है। 5. मॉड्यूलर स्टेडियम
न्यूयॉर्क में दिसंबर 2023 तक इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम नहीं था। यहां पिछले 6 महीने में मॉड्यूलर स्टेडियम तैयार किया गया। इसकी पिच ऑस्ट्रेलिया से लाई गई, वहीं स्टैंड्स फॉर्मूला-1 कॉम्पिटिशन से लाए हए हैं। इस स्टेडियम में 34 हजार दर्शक बैठ सकेंगे। वर्ल्ड कप में पहली बार ही मॉड्यूलर स्टेडियम का इस्तेमाल होगा। यहां भारत-पाकिस्तान मैच समेत ग्रुप स्टेज के 8 मैच खेले जाएंगे। खास बात यह भी कि टूर्नामेंट के बाद इसे पार्क में बदल दिया जाएगा। 6. स्टॉप क्लॉक रूल
ICC टूर्नामेंट में पहली बार स्टॉप क्लॉक रूल का इस्तेमाल होगा। बॉलिंग टीम को 2 ओवर के बीच 60 सेंकेड का ही टाइम मिलेगा। ओवर खत्म होने के बाद थर्ड अंपायर मैदान में लगी टीवी स्क्रीन पर टाइमर शुरू कर देगा। अगर अगला ओवर 60 सेकेंड के बाद शुरू हुआ तो फील्ड अंपायर 2 बार फील्डिंग टीम के कप्तान को वॉर्निंग देगा। पारी में 3 बार अगला ओवर फेंकने के लिए 60 सेकेंड से ज्यादा समय लगने पर 5 रन की पेनल्टी लगेगी। यह 5 रन बैटिंग टीम के स्कोर में जुड़ेंगे। पारी में हर तीसरी गलती पर बॉलिंग टीम पर पेनल्टी लगेगी। टाइम मैनेज करने के लिए पिछले साल दिसंबर में इस नियम का ट्रायल शुरू किया था। जिसे अब परमानेंट किया जा चुका है। **** ग्राफिक्स- कुणाल शर्मा —————————— वर्ल्ड कप इंडेप्थ रिपोर्ट पार्ट-2 में पढ़िए…
क्या है मॉड्यूलर ग्राउंड? जहां होगा भारत-पाक मैच: फ्लोरिडा में पिच बनी, फॉर्मूला-1 का स्टैंड लगाया टी-20 वर्ल्ड कप की शुरुआत 2 जून को अमेरिका और वेस्टइंडीज में होने जा रही है। 21 मई को उसेन बोल्ट ने न्यूयॉर्क के इस टेम्पररी स्टेडियम का उदघाटन किया। इसमें ऑस्ट्रेलिया में बनी पिच का इस्तेमाल होगा। वहीं दर्शकों के बैठने के लिए फॉर्मूला-1 के स्टैंड को लगाया गया है। यहां भारत-पाक मैच के साथ-साथ वर्ल्ड कप के कुल 8 मैच खेले जाने हैं। पढ़ें पूरी खबर…

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments