Wednesday, May 22, 2024
HomeMiscellaneousBCCI सेक्रेटरी ने घरेलू क्रिकेट के लिए किए तीन सिफारिश:रणजी ट्रॉफी के...

BCCI सेक्रेटरी ने घरेलू क्रिकेट के लिए किए तीन सिफारिश:रणजी ट्रॉफी के मैचों के बीच चार दिन का गैप; सीके नायडु ट्रॉफी में टॉस खत्म होगा

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI)घरेलू क्रिकेट को बेहतर बनाने के लिए रणजी ट्रॉफी को दो चरणों में कराने के साथ ही तीन बदलाव करने जा रही है। BCCI के सचिव जय शाह ने 2024-2025 के घरेलू सीजन के लिए एपेक्स काउंसिल को तीन बड़ी सिफारिशें भेजी हैं। जिनमें रणजी ट्रॉफी को दो चरणों में करना, अंडर-23 सीके नायडु ट्रॉफी में टॉस खत्म करना और दलीप ट्रॉफी के लिए जोन टीमों का चयन नेशनल सिलेक्शन कमिटी की ओर से किया जाना शामिल है। अब चलिए BCCI सचिव की ओर से की गई तीनों सिफारिशों को विस्तार से जानते हैं।
I.रणजी ट्रॉफी के मैचों के बीच तीन की जगह चार दिन का गैप
रणजी ट्रॉफी के मैचों के बीच तीन की जगह अब चार दिन का गैप होगा। दरअसल पिछले साल शार्दूल ठाकुर ने कहा था कि रणजी ट्रॉफी के मैचों के बीच गैप कम है, पहले ग्रुप मैचों के बीच 4 दिन और नॉक आउट मैचों के बीच 5 दिन का गैप होता था। अगर मैचों का ऐसा शेड्यूल दो-तीन साल ऐसा ही रहा तो देश के कई युवा खिलाड़ी चोटों से जूझते नजर आएंगे। शार्दूल की बात तो BCCIने गंभीरता से लिया। BCCI अब रणजी ट्रॉफी को दो चरणों में कराने की योजना तैयार की है। रणजी ट्रॉफी अब जनवरी के बजाय सितंबर के आखिर या अक्टूबर के शुरुआत में कराया जाएगा। शुरुआती चरणों के 5 राउंड के मैचों के बाद सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी और विजय हजारे ट्रॉफी के मैच होंगे। वहीं उसके बाद रणजी राउंड के दूसरे चरण में तीन राउंड और नॉकआउट के मैच होंगे।
2023-2024 सीजन में रणजी के मैच जनवरी में हुए थे। इस दौरान मौसम की खराबी की वजह से कई मैचों में बाधा उत्पन्न हुई थी। इसलिए इसे अब सितंबर-अक्टूबर में कराया जाएगा। 2. सीके नायुडु में टॉस नहीं होगा
वहीं बीसीसीआई सेक्रेटरी की ओर से एपेक्स कमेटी के पास जो दूसरी सिफारिश की गई है, उसमें एक प्रस्ताव अंडर-23 सीके नायुडु टॉफी में टॉस खत्म करने की गई है। इसमें विजिट करने वाली टीम को यह अधिकार होगा कि वह पहले गेंदबाजी या बल्लेबाजी का चयन कर सकती है। यहीं नहीं नई प्वाइंट्स टेबल का भी चलन किया जाएगा। अगर यह प्रयोग सफल रहा, तो इस व्यवस्था को सीनियर स्तर पर भी लागू किया जाएगा। 3.दलीप ट्रॉफी का चयन नेशनल सिलेक्शन कमेटी करेगी
वहीं जय शाह ने घरेलू सीजन के लिए जो प्रपोजल दिए हैं, उनके एक प्रस्ताव यह भी है कि दलीप ट्रॉफी टीम का चयन क्षेत्रीय सेलेक्टरों के बजाय नेशनल सेलेक्शन कमेटी करेगी। इससे फायदा होगा कि चयन में प्रादर्शिता आएगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments