Tuesday, June 18, 2024
HomeMiscellaneousIPL फाइनल के ट्रेंड एनालिसिस से जानिए कौन बनेगा चैंपियन?:200+ का स्कोर...

IPL फाइनल के ट्रेंड एनालिसिस से जानिए कौन बनेगा चैंपियन?:200+ का स्कोर यानी जीत की गारंटी; पिछले 6 सीजन से क्वालिफायर-1 जीतने वाली टीम जीत रही

IPL-2024 के फाइनलिस्ट तय हो चुके हैं। आज चेन्नई में कोलकाता नाइट राइडर्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच शाम 7:30 बजे से फाइनल मुकाबला खेला जाएगा। पॉइंट्स टेबल के नंबर-1 पर कोलकाता ने क्वालिफायर-1 जीतकर फाइनल में प्रवेश किया है, जबकि नंबर-2 हैदराबाद ने क्वालिफायर-2 जीतकर खिताब मुकाबले में प्रवेश किया है। पिछले 6 सीजन से क्वालिफायर-1 जीतने वाली टीम ही खिताब जीत रही है। पिछले 16 फाइनल का ट्रेंड एनालिसिस… 1. पॉइंट्स टेबल की नंबर-2 टीम को सबसे ज्यादा 8 ट्रॉफी
लीग राउंड के बाद टॉप-2 पर रही टीमों ने 13 खिताब जीते हैं। इनमें से नंबर-1 फिनिश करने वाली टीम ने 5 और नंबर-2 पर रही टीम ने 8 बार ट्रॉफी उठाई है। नंबर-3 की टीम 2 बार चैंपियन बनी है। सिर्फ एक बार एलिमिनेटर जीतने वाली टीम चैंपियन बन सकी है। 2016 में हैदराबाद चौथे नंबर पर रही थी और एलिमिनेटर, क्वालिफायर-2 और फाइनल मुकाबले जीते थे। इस सीजन में कोलकाता नाइट राइडर्स ने नंबर-1 और सनराइजर्स हैदराबाद ने नंबर-2 पर लीग राउंड फिनिश किया है। 2. टॉस I. टॉस जीतने वाली टीम ने 62.5% फाइनल जीते
आमतौर पर टॉस किसी भी मुकाबले में अहमियत रखता है, लेकिन फाइनल में इसकी अहमियत बढ़ जाती है। पिछले 16 फाइनल में से 10 फाइनल टॉस जीतने वाली टीमों ने जीते हैं, जबकि 6 टीमें टॉस हारकर चैंपियन बनी है। पिछले ट्रेंड्स के अनुसार, चेपॉक में टॉस काफी अहमियत रखेगा, टॉस का सिक्का जिस टीम के पक्ष में गिरेगा, उसके जीतने के चांस 62.5% होंगे, जबकि टॉस हारने वाली टीम की जीते के चांस 37.5% होंगे। II. आधे से ज्यादा फाइनल चेज करने वाली टीम ने जीते
अब तक के फाइनल में टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला ही जीत का मंत्र रहा है, यानी कि 16 में से 9 फाइनल मुकाबले टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने वाली टीम ने जीते हैं, वहीं 7 फाइनल पहले बल्लेबाजी कर रही टीम ने अपने नाम किए हैं। 16 फाइनल मुकाबलों में सफल डिफेंड 56.25% रहा है, जबकि 43.75% मैचों में चेजकर रही टीम चैंपियन बनी है। यहां टॉस जीतने वाली टीम पहले गेंदबाजी का फैसला करना पसंद करेगी, क्योंकि पिछले 16 फाइनल में 56.25% स्कोर डिफेंड हुए हैं, जबकि 43.75% स्कोर ही चेज हो सके हैं। 3. 200 से ज्यादा का स्कोर अब तक चेज नहीं
पिछले 16 साल में IPL फाइनल में 200+ का स्कोर चेज नहीं हुआ है, यानी कि 200+ का स्कोर यानी जीत की गारंटी है। 2008 से 2023 तक फाइनल में 4 दफा 200+ का स्कोर बना है, लेकिन चेज कर रही टीम अब तक 200 से ज्यादा का स्कोर चेज नहीं कर सकी है। 2023 के फाइनल में गुजरात ने 214 रन बनाए थे, लेकिन बारिश के कारण चेन्नई को 15 ओवर में 171 रन का संशोधित टारगेट दिया गया, जिसे चेन्नई ने 15 ओवर में 5 विकेट पर हासिल कर लिया। यदि पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम 200 से ज्यादा का स्कोर खड़ा करने में कामयाब हो जाती है, तो संबंधित टीम की जीत के चांस 100% होंगे। 4. पिछले 6 फाइनल क्वालिफायर-1 की विनर ने जीते
पिछले 6 सीजन से क्वालिफायर-1 जीतने वाली टीम चैंपियन बन रही है। 2011 में प्लेऑफ सिस्टम शुरू हुआ, तब से अब तक कुल 13 फाइनल खेले गए, इनमें से 10 क्वालिफायर-1 जीतने वाली टीम ने जीते, जबकि 3 में क्वालिफायर-2 की विनर चैंपियन बनी, इनमें 2016 में एलिमिनेटर जीतकर आई सनराइजर्स हैदराबाद भी शामिल है। पिछले ट्रेंड के अनुसार, कोलकाता की जीतने के चांस 76.92% और हारने के 23.07% हैं, वहीं हैदराबाद के आंकड़े इसके उलट हैं, क्योंकि क्वालिफायर-2 जीतने वाली टीम 3 दफा ही चैंपियन बन सकी है। 5. सबसे ज्यादा 9 खिताब न्यूट्रल वेन्यू पर जीते गए
पिछले 16 में 13 फाइनल भारतीय पिचों पर हुए हैं, जबकि 3 खिताबी मुकाबले विदेशों में खेले गए। अब तक खेले गए फाइनल मुकाबलों में से 9 फाइनल न्यूट्रल वेन्यू पर जीते गए हैं। 2 मेजबान टीम ने जीते, जबकि 5 में मेहमान टीम चैंपियन बनी है। चेपॉक स्टेडियम दोनों टीमों के लिए न्यूट्रल वेन्यू है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments